महाराष्ट्र/गुजरात

अपनी ही पार्टी के विरोध में धरने पर बैठे यशवंत सिन्हा, दो राज्यों के मुख्‍यमंत्रियों ने भी दिया समर्थन

महाराष्ट्र-भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा को सोमवार शाम महाराष्ट्र पुलिस ने हिरासत में ले लिया,महाराष्ट्र के अकोला में वह विदर्भ क्षेत्र के किसानों के प्रति सरकार की बेरुखी का विरोध कर रहे थे,एक निजी चैनल से बातचीत में उन्होंने कहा कि वह और उनके साथ के किसान अभी भी पुलिस हेडक्वार्टर में हैं,वह उनकी मांगें पूरी नहीं होने तक डटे रहेंगे वहीं,अकोला के जिला पुलिस अधीक्षक राकेश कालासागर ने न्यूज एजेंसी पीटीआई से बातचीत में कहा, हमने बंबई पुलिस कानून की धारा 68 के प्रावधानों के तहत जिला कलेक्ट्रेट के बाहर करीब 250 किसानों के साथ सिन्हा को हिरासत में लिया है,हालांकि,बाद में सिन्हा को रिहा कर दिया गया सिन्हा के समर्थन में दो राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने समर्थन दिया है,आईपीएस अधिकारी ने आगे बताया था, हिरासत में लिए गए लोगों को अकोला जिला पुलिस मुख्यालय मैदान ले जाया गया सैकड़ों किसानों के साथ सिन्हा अकोला जिला कलेक्टर के कार्यालय के बाहर कपास और सोयाबीन पैदा करने वाले किसानों के प्रति सरकार की कथित बेरुखी का विरोध कर रहे थे।

सिन्हा देश के पूर्व वित्त मंत्री रह चुके हैं। वह इसके अलावा तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में विदेश मंत्री भी रहे।केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा उन्हीं के बेटे हैं। यशवंत के मुताबिक, मंगलवार सुबह तक उनकी अपनी पार्टी के नेताओं या फिर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से इस बारे में कोई बात नहीं हुई है उन्होंने कहा,न ही वह मेरे पास आए और न ही मैंने उनसे बात करने की कोशिश की
सिन्हा ने मगंलवार को कहा,पुलिस के यह ऐलान करने के बाद कि हमें हिरासत से रिहा कर दिया गया है,हमने यहां रुकने का फैसला किया है। पुलिस जहां हमें लेकर जाएगी,हम वहां जाएंगे। लेकिन तब तक हमारी सभी मांगें पूरी हो जानी चाहिए। हमारा प्रदर्शन जारी रहेगा सिन्हा के विरोध प्रदर्शन का विपक्षी पार्टियों के दो मुख्यमंत्रियों ने समर्थन किया है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top
error: Content is protected !!