तुर्की के राष्ट्रपति एर्दोगान ने अमेरिकी राष्ट्रपति के साथ फ़ोन कॉल पर सीरिया के अफरीन की स्थिति के बारे में चर्चा की, जिसमे उन्होंने अपनी स्थिति के बारे में अमेरिकी राष्ट्रपति से बातचीत की

एर्दोगान ने ट्रम्प से कहा कि तुर्की उत्तरी सीरिया में अपने सीमावर्ती संचालन जारी रखेगा, वह सीरिया से पीछे नहीं हटेगा।

एर्दोगान ने कहा की हमने ट्रम्प के साथ बातचीत की,जिसमे हमने ट्रम्प को बताया की हम एक भी कदम सीरिया से वापस नहीं लेंगे।
एर्दोगान ने कहा की हम हमेशा निर्दोषों के लिए लड़ें हैं और हम हमेशा से निर्दोषों के पक्ष में रहे हैं,हमने कभी भी उन लोगों का साथ नकही दिया जो निर्दोषों को दर्द देते हैं,अल्लाह की मेहरबानी से हमने अफरीन में आतंकवाद का सफाया कर लिया है,अफरीन के बाद अब मानबिज और इद्लिब हैं, जहां से आतंकवाद का सफाया करना है।

तुर्की के सैनिकों और उनके सीरियाई सहयोगियों ने सीरिया के अफरीन क्षेत्र में आतंक का सफाया कर क्षेत्र में कब्ज़ा कर लिया,अफरीन में कोई यू.एस. सैनिक नहीं थे,जबकि अमेरिकी सेना मानबिज क्षेत्र में मौजूद हैं जो इस्लामी इस्लामी राज्य से लड़ने के लिए सीरियाई कुर्दों को प्रशिक्षित करने में मदद करते हैं।

हालांकि तुर्की के अधिकारियों ने कहा है कि उन्होंने मानवबीज से कुर्दिश की अगुवाई वाली सेना को हटाने के लिए संयुक्त राज्य अमेरिका के साथ एक समझौता किया है,अमेरिकी अधिकारियों ने इस तरह के समझौते से इनकार किया है।

व्हाइट हाउस ने एक बयान में कहा है कि दोनों नेताओं ने साझा रणनीतिक चुनौतियों पर सहयोग बढ़ाने और दोनों देशों की चिंताओं को दूर करने के प्रयास जारी रखने के लिए बातचीत की

एर्दोगान ने कहा कि 3,700 से अधिक आतंकवादी अभी तक पकड़े गए हैं,ब्रिटेन स्थित सीरियन ऑब्ज़र्वेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स, जो सीरियाई गृहयुद्ध पर नज़र रखता है, ने कहा कि करीब 1,500 कुर्द सैनिकों दो महीने में मारे गए हैं।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here