नई दिल्ली-महाराष्ट्र के नागपुर में स्थित DRDO यूनिट से एक आईएसआई एजेंट के गिरफ्तार किए जाने की खबर आई अब तक मिली जानकारी के मुताबिक गिरफ्तार व्यक्ति ब्रम्होस यूनिट में काम करता था और पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI का एक जासूस बनकर कई सवंदेनशील जानकारी पहुंचाता था हालांकि उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र की एटीएस की संयुक्त कारवाई के बाद उस जासूस को गिरफ्तार कर लिया गया साथ ही रिपोर्ट्स के मुताबिक गिरफ्तार किए गए ISI एजेंट का नाम निशांत अग्रवाल बताया जा रहा है। इसमें सबसे हैरत की बात यह है कि इस शख्स को साल 2017-18 में यंग साइंटिस्ट अवॉर्ड भी मिल चुका है।

फिलहाल अभी निशात अग्रवाल से यूपी एटीएस पूछताछ कर रही है,साथ ही इस बात की भी जानकारी जुटाने में लगी है की उसने अब तक इन सूचनाओं किसने साथ साझा किया साथ ही किन संवेदनशील जानकारी को लीक गई, हालांकि अभी इस बारे में यूपीए एटीएस ने खुलकर कुछ नहीं बताया है। लेकिन यह माना जा रहा है कि ब्रह्मोस मिसाइल यूनिट में काम करते हुए इस शख्स ने ब्रम्होस संबंधी तकनीकी और अन्य संवेदनशील जानकारियों को पाकिस्तान और अमेरिका को पहुंचाता था सूत्रों के मुताबिक रविवार देर रात एक टीम इस शख्स को खुफिया स्तर से ट्रैक कर रही थी और जब संवेदनशील जानकारी लीक करने की खबर पुख्ता हुई तो यूपी ATS ने सोमवार को आखिरकार नागपुर से दबोच लिया।बता दें, ब्रम्ह्रोस एयरोस्पेस भारत और रूस की साझेदारी में चलाया जाने वाला उपक्रम है,जो कि बेहद संवेदनशील है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here