मुंबई के 23 वर्षीय एक छात्र ने हिंदुत्व को छोड़ इस्लाम अपनाने के लिए अपना घर परिवार तक छोड़ दिया हालांकि पुलिस ने इस मामले को संदिग्ध रूप से कट्टरता का मामला बताकर जांच शुरू कर दी है।

बी कॉम तीसरे साल में पढ़ रहे जगदीश परिहार 23 अक्टूबर को ये कहकर घर से निकला कि यूनिवर्सिटी जा रहा है, लेकिन बाद शाम को फोन कर बताया कि वो अब वापस नहीं आएगा और जल्द ही इस्लाम धर्म कबूल करने वाला है।

मंगलवार को घर छोड़ने से पहले अपने साथ वह पासपोर्ट सहित सभी दस्तावेज ले गया है,उसने बैंक खाते से पैसे भी निकाल लिए पुलिस अधिकारी ने कहा कि परिहार ने गुरुवार सुबह अपने परिवार के सदस्यों को फोन किया और बताया कि वह सुरक्षित है और वह डेढ़ महीने बाद घर लौटेगा।

उन्होंने बताया, मंगलवार को घर छोड़ कर जाने के बाद उसने अपने छोटे भाई भावेश को फोन कर कहा कि वह इस्लाम अपनाने जा रहा है क्योंकि वह हिंदुत्व को पसंद नहीं करता है, इसके बाद उसके परिवार के सदस्यों ने मुलुंड पुलिस से संपर्क किया और गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करायी।

अधिकारी ने बताया कि परिहार के अंतिम फोन लोकेशन का पता लगाने के बाद पुलिस ने पाया कि यह छत्रपति शिवाजी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के आस पास था मुलुंड पुलिस थाने के वरिष्ठ निरीक्षक श्रीपद काले ने बताया कि शिकायत के आधार पर गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कर ली गयी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here