देश

भारत बीमार मानसिकता का गुलाम जहां बलात्कारियों को बचाने के लिए रैली निकाली जाती है-संयुक्त राष्ट्र

जम्मू के कठुआ जिले में मुस्लिम समुदाय से बदला लेने के मकसद से 8 साल की मासूम असीफा के साथ उग्र हिंदुवादियों ने मंदिर में लगातार तीन दिन सामूहिक बलात्कार कर पत्थरों से कुचल कर हत्या कर देने के मामले में संयुक्त राष्ट्र ने कड़ी टिप्पणी की है।

संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंतोनियो गुटेरेस ने इस मामले को भयावह बताया है,ऐसे में अब ये मामला अंतरराष्ट्रीय मुद्दा बन चूका है,जिसके चलते पूरी दुनिया में भारत की बदनामी भी हो रही है।

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंतोनियो गुटेरेस ने इस मामले को भयावह बताते हुए उम्मीद जताई है कि आरोपितों को उचित सजा मिलनी चाहिए उन्होंने दोषियों को सजा मिलने की उम्मीद भी जताई।

बता दें कि असीफा को 10 जनवरी को उसके गांव के पास से अगवा किया गया था उसे नशे के हाई डोज में रखा गया,और कई दिन तक उसके साथ कई लोगों ने मन्दिर में गैंगरेप किया जिनमे एक रिटायर्ड सेल्स ऑफिसर, एक पुलिस वाला और 15 साल का एक युवक शामिल है।

7 दिनों तक मंदिर में रेप करने के बाद असीफा की पत्थरों से कुचल कर हत्या कर दी गई असीफा का 17 जनवरी को क्षत-विक्षत शव मिला इस मामले की जांच के लिए गठित विशेष जांच दल (एसआईटी) ने अब तक दो विशेष पुलिस अधिकारियों और एक हेड कांस्टेबल सहित आठ लोगों को गिरफ्तार किया है,हेड कांस्टेबल पर सबूत नष्ट करने के आरोप हैं।

2 Comments

2 Comments

  1. Nirav Patel

    April 15, 2018 at 5:53 am

    धर्म के धतींग के मानसिक गुलाम है।

  2. Pingback: रेप के मामले देखकर संयुक्त राष्ट्र ने की भारत को लेकर यह बड़ी घोषणा! 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top