मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान खुद को राज्य की कन्याओं के मामा के रूप में पेश करते है, लेकिन वे अपने ही लोगो से उनकी सुरक्षा भी नहीं कर पा रहे है।

दरअसल,राज्य के सिलाई-कढ़ाई बोर्ड के उपाध्यक्ष और राज्यमंत्री का दर्जा प्राप्त राजेंद्र नामदेव पर एक एसिड पीड़िता के साथ बलात्कार की कोशिश का आरोप लगा है,अब उन्हें पद से हटा दिया गया है।

पुलिस के अनुसार, सतना जिले की रहने वाली एक युवती पर दो साल पहले एसिड अटैक हुआ था, तब नामदेव ने युवती की मदद की थी और उसे आर्थिक सहायता भी दिलाई थी नवंबर 2017 में उसके साथ नामदेव ने एक होटल के कमरे में छेड़छाड़ और ज्यादती की।

पीड़िता ने हनुमानगंज थाने में रविवार को शिकायत दर्ज कराई पुलिस ने अब मामले की जांच शुरू कर दी है, हालांकि नामदेव ने खुद को बेकसूर बताया है,भाजपा के प्रदेश कार्यालय मंत्री सत्येंद्र भूषण सिंह ने सोमवार को एक लिखित पत्र जारी कर कहा कि नामदेव के खिलाफ आपराधिक धाराओं में मामला दर्ज हुआ है,इस कृत्य से पार्टी की छवि धूमिल हुई है, लिहाजा यह कृत्य घोर अनुशासनहीनता की परिधि में आता है।

एसपी राजेश सिंह भदौरिया के मुताबिक युवती मूलतः सिवनी की रहने वाली है,18 जून 2016 को उस पर हबीबगंज थाना क्षेत्र में एसिड अटैक हुआ था,राजेंद्र नामदेव ने इसी के बाद हमदर्दी दिखाई और मदद के बहाने युवती के करीब आ गए इस दौरान नामदेव ने पीड़िता को नौकरी दिलाने का झांसा दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here