मध्यप्रदेश की खबरे प्रमुखता से प्रसारित करने वाले न्यूज़पोर्टल ने दावा किया है कि आरएसएस ने एक गोपनीय सर्वे प्रदेशभर में करवाया ताकि आगामी विधानसभा चुनाव में ठोस रणनीति बनाकर भाजपा की सत्ता को बचाया जाए.

संघ के सर्वे में भाजपा को सिर्फ 96 सीटो की संभावना है वही कांग्रेस पार्टी 114 सीटे मिलने की संभावना है वही सर्वे में निष्कर्ष है कि कांग्रेस और भाजपा के बीच मात्र मत प्रतिशत में दो प्रतिशत का ही अंतर है इसलिए संघ ने शिवराज सरकार को इस बारे में सचेत किया है.

मध्यप्रदेश विधानसभा में 230 सीट है इसलिए सरकार बनाने के लिए 116 विधायक चाहिए,इस लिहाज़ से कांग्रेस बहुमत के करीब है वही पिछली बार ऐतिहासिक जीत दर्ज करने वाली भाजपा सौ के अंदर सिमट रही है .

संघ के सर्वे में भाजपा के खिलाफ एंटी-इन्कम्बंसी की बात है,किसान आन्दोलन और भाजपा विधायको के खिलाफ जनता में आक्रोश है.ग्राउंड रिपोर्ट के बाद भाजपा के कई विधायको के टिकट काटने की रणनीति भाजपा अजमाने की सोच रही है.

भाजपा कम से कम 76 विधायको के टिकट काटने की सोच रही है लेकिन पार्टी की चिंता ये भी है कि सर्वे में कांग्रेस और भाजपा के बीच मत पर्तिशत में सिर्फ दो प्रतिशत का अंतर है कहीं टिकट काटने के बाद ये बागी बनके चुनाव में उतरे उस स्थिति में कांग्रेस को इन सीटो पर लाभ मिलेगा.

भाजपा सूत्रों के अनुसार पार्टी ने कई राज्यों में विधायको के टिकट काटे है और वहां पार्टी को चुनाव में फायदा हुआ इसलिए भाजपा जोखिम लेने की सोच रही है.

सर्वे के बाद सूबे के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी सक्रीय हो गये है उन्होंने भाजपा विधायको को जनता के बीच में अधिक से अधिक समय बिताने के लिए कहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here