जयपुर-बारां जिले में जनसंख्या नियंत्रण के नाम पर लक्ष्य को पूरा करने के चक्कर में एक अविवाहित युवक को पैसे का लालच देकर उसकी नसबंदी कर दी गई.मामला सामने आने पर राजस्थान के चिकित्सा विभाग में हड़कंप मच गया है.पीड़ित युवक बारां शहर के तलाबपाड़ा क्षेत्र का है और उसका नाम अशफाक मोहम्मद बताया जा रहा है.

उसकी चिकित्सा विभाग की ओर से परिवार नियोजन के तहत अंता कस्बे में 6 अप्रैल को आयोजित पुरुष नसबंदी शिविर में नसबंदी कर दी गई.बकौल अशफाक चिकित्सा विभाग की एक नर्स और अन्य कर्मचारी उसे 6 हजार की नगदी और एक मोबाइल देने के बहाने अंता ले गए.वहां पर उसकी नसबंदी कर दी.पीड़ितअशफाक का कहना है कि उसने उनको अविवाहित होने के बारे में बताया भी था, लेकिन चिकित्साकर्मियों ने अनसुना कर दिया.

अशफाक ने बताया कि वह अनपढ़ है इसलिए उसे नसबंदी के बारे में पता नही था.उसे 3 हजार रुपए का चैक दिया,लेकिन उसका बैंक में खाता ही नहीं है.बाद में उसने पूरे घटनाक्रम की जानकारी परिजनों को दी.जिसके बाद पीड़ित के परिवार वाले सन्न रह गये.पीड़ित के भाई ने चिकित्साकर्मियों पर धोखे से नसबंदी करने का आरोप लगाया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here