रमज़ान शुरू होने में अब एक हफ़्ते से भी कम का समय है.ऐसे में सऊदी सरकार रोज़े दारों की सेवा के लिए इंतज़ाम कर रही है.इस्लाम धर्म के पाँच फ़र्ज़ में से एक रमज़ान के महीने में रोज़े रखना है.रमज़ान का महीना 29 या 30 दिन का होता है,चाँद के देखे जाने के आधार पर. इस बीच सऊदी अरब के शाह सलमान ने आदेश दिया है कि रमज़ान के दौरान जो लोग मक्का-मदीना का दौरा करने आ रहे हैं उन्हें बेहतर सुविधाएं दी जाएँ.

उन्होंने कहा है कि दुगनी सुविधाएँ दी जानी चाहियें.रमज़ान को लेकर तैयारी की समीक्षा भी की गयी.कैबिनेट की मीटिंग में ये कहा गया है कि क्वालिटी ऑफ़ लाइफ प्रोग्राम 2020 को शुरू किया जाए.ये प्रोग्राम सऊदी विज़न २०३० के लिए बहुत अहम् माना जा रहा है.इसका कुल ख़र्च 34 बिलियन डॉलर है.इस प्रोग्राम के ज़रिये आम लोगों की ज़िन्दगी बेहतर बनाने की कोशिश की जायेगी.

ऐसे माना जा रहा है कि इस प्लान के आने के साथ ही देश में नई नौकरियां भी पैदा होंगी.इसके अलावा अन्तराष्ट्रीय विधायों को लेकर भी कैबिनेट ने चर्चा की. मोरक्को में ईरानी दख़ल की निंदा की गयी और इसके हेज़बोल्लाह को ट्रेनिंग देने की भी निंदा की गयी.हेज़बोल्लाह को सऊदी अरब आतंकी संघठन मानता है.

हेज़बोल्लाह को ईरान का समर्थन प्राप्त है.इसके अलावा इस कैबिनेट मीटिंग में पाकिस्तान के गृह मंत्री पर हुए जानलेवा हमले को लेकर भी चिंता व्यक्त की गयी. इसके अलावा लीबिया के हालात पर भी चर्चा की गयी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here