पलवल-अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में लगी जिन्ना की तस्वीर को लेकर मचा सियासी घमासान अब शायद हरियाणा की तरफ रूख़ कर चुका है। तभी पलवल में भी एक म्यूजियम से जिन्ना की तस्वीर हटाने की मांग ने तूल पकड़ लिया है।दरअसल पलवल के गांधी सेवा आश्रम के संग्रहालय में मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर पिछले 56 सालों से लगी हुई है। अब विश्व हिन्दू परिषद संग्रहालय से जिन्ना की तस्वीर को हटाने की मांग कर रहा है।

पलवल रेलवे स्टेशन पर अंग्रेजों ने महात्मा गांधी को 10 अप्रैल को उस समय गिरफ्तार किया,जब वो रोलेक्ट कानून के विरोध में पंजाब जा रहे थे।महात्मा गांधी की याद में इस गांधी सेवा आश्रम को बनाया गया है। खुद नेताजी सुभाष चन्द्र बोस ने 2 अक्तूबर 1938 को इस गांधी आश्रम की आधारशिला रखी थी।पलवल। अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में लगी जिन्ना की तस्वीर को लेकर मचा सियासी घमासान अब शायद हरियाणा की तरफ रूख़ कर चुका है। तभी पलवल में भी एक म्यूजियम से जिन्ना की तस्वीर हटाने की मांग ने तूल पकड़ लिया है।

दरअसल पलवल के गांधी सेवा आश्रम के संग्रहालय में मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर पिछले 56 सालों से लगी हुई है।अब विश्व हिन्दू परिषद संग्रहालय से जिन्ना की तस्वीर को हटाने की मांग कर रहा है।पलवल रेलवे स्टेशन पर अंग्रेजों ने महात्मा गांधी को 10 अप्रैल को उस समय गिरफ्तार किया, जब वो रोलेक्ट कानून के विरोध में पंजाब जा रहे थे।महात्मा गांधी की याद में इस गांधी सेवा आश्रम को बनाया गया है।

खुद नेताजी सुभाष चन्द्र बोस ने 2 अक्तूबर 1938 को इस गांधी आश्रम की आधारशिला रखी थी।वहीं विश्व हिन्दू परिषद ने संग्रहालय में लगी जिन्ना की तस्वीर को हटाने की मांग है। विश्व हिन्दू परिषद के जिला उपप्रधान मुनीष भारद्वाज का कहना है कि लाखों लोगों की हत्या का जिम्मेदार जिन्ना है। अगर उसकी तस्वीर नहीं हटाई जाती तो वो आन्दोलन भी करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here