नई दिल्ली-वज़ीरपुर में पानी लेने के लिए हुए झगड़े में एक बुजुर्ग लाल बहादुर की जान चली गई थी.इस घटना के तुरंत बाद कांग्रेस और बीजेपी नेताओं ने वज़ीरपुर में पीड़ित परिवार से मिलकर ‘आप सरकार’ को जमकर कोसा. बीजेपी ने इस मुद्दे पर धरना प्रदर्शन भी किया और परिवार को एक करोड़ रुपये सहायता राशि देने की मांग करते हुए एक लाख रुपये का चेक पीड़ित परिवार को दान भी दिया.

बीजेपी ने पांच लाख रुपये के साथ मनोज तिवारी के आने का दावा करते हुए लाल बहादुर के परिजनों को एक लाख रुपये का चेक दान किया था. लाल बहादुर की पत्नी बीमार है और बेटे के पास अपनी मां के इलाज के लिए पैसे नहीं है, इसलिए इस परिवार को पैसे की बड़ी तंगी ह.

चेक कैश करने के लिए बड़ी मुश्किल से लाल बहादुर के पुत्र रोहित ने अपनी माँ का बैंक में खाता खुलवाया, लेकिन काफी दिनों के इंतजार के बाद पता चला बीजेपी जिला केशव पुरम के बैंक खाते से दिया गया ये चेक अकाउंट में बैलेंस न होने की वजह से बाउंस हो गया.अब जब वज़ीरपुर उपचुनाव की संभावना ख़त्म हो गई तो सियासी लोगों की सहनुभूति और सहयता का भाव भी ख़त्म हो गया,जिस बीजेपी ने चेक देने के लिए टैंट लगाकर तामझाम जुटाया वो एक लाख रुपये नहीं जुटा सकी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here