सीवान लोकसभा सीट बिहार की सबसे चर्चित लोकसभा सीटों में से एक है. बिहार की 40 लोकसभा सीटों में से एक सीवान बाहुबली मुहम्मद शहबुद्द्दीन का गढ़ मानी जाती है. यहाँ से वो 4 बार सांसद रह चुके हैं, 1 बार जनता दल के टिकट पर और 3 बार राजद के टिकट पर. 2007 में उन्हें “ह्त्या के इरादे से अपरहरण” के मामले में उन्हें उम्र-क़ैद की सज़ा हो गयी, इसका अर्थ ये हुआ कि वो अब कोई चुनाव नहीं लड़ सकते. 2009 में सीवान सीट से उनकी पत्नी हिना शहाब ने पर्चा भरा लेकिन वो चुनाव ना जीत सकीं.

साल 2014 के लोकसभा चुनाव की बात करें तो भाजपा के ओम प्रकाश यादव ने राजद टिकट पर चुनाव में उतरीं हिना शहाब को 1,13,847 वोट से हरा दिया. इसके पहले 2009 में भी ओम प्रकाश यादव ने यहाँ से चुनाव जीता था. 2009 में हिना शहाब ने बहुत प्रचार नहीं किया था, वो सिर्फ़ कुछ रैलियों में नज़र आयी थीं जिसमें राजद सुप्रीमो लालू यादव और फ़िल्मस्टार संजय दत्त भी आये थे. हिना ने कोई भाषण भी तब नहीं दिया था. यादव तब निर्दलीय प्रत्याशी के बतौर चुनाव में उतरे थे. यादव और शहाबुद्दीन कट्टर विरोधी रहे हैं.

क्या है अभी की स्थिति?

बात अगर इस समय की स्थिति की करें तो सीवान में अभी भी शहाबुद्दीन की पकड़ मज़बूत है. जेल में होने के बावजूद उनके कार्यकर्ताओं ने उनके पक्ष में माहौल बना रखा है लेकिन ओम प्रकाश यादव भी किसी प्रकार से कमज़ोर नहीं हैं. शहाबुद्दीन की पत्नी हिना शहाब के ही दुबारा चुनाव में उतरने की उम्मीद है लेकिन इलेक्शन एक बार फिर शहाबुद्दीन और ओम प्रकाश यादव के बीच है. ये दोनों नेता भले किसी पार्टी से चुनाव लड़ें लेकिन चर्चा इनकी ही अधिक होती है और पार्टी की कम.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here