नई दिल्ली…जम्मू-कश्मीर से आने वाले आईएएस टॉपर शाह फैसल ने एक ऐसा ट्वीट कर दिया है जिसके बाद उनकी मुश्किलें बढ़ने की उम्मीद है. उन्होंने एक ट्वीट किया जिसमें उन्हने “रेपिस्तान” शब्द का ज़िक्र किया है जिसके बाद केंद्र सरकार ने राज्य सरकार को कार्यवाही का निर्देश दिया है.कुछ रोज़ पहले ही स्शः फैसल ने एक ट्वीट किया था जिसमें उन्होंने समाज की कुछ समस्याओं से लोगों को अवगत कराया था. उन्होंने कहा था,”पैट्रिआर्की + पॉपुलेशन + इलिट्रेसी + अल्कोहल + पोर्न + टेक्नोलॉजी + एनार्की = रेपिस्तान”


इस मामले में केंद्र सरकार ने एक्शन लिया है और उनके ट्वीट को आल इंडिया सर्विस रूल्स का उल्लंघन माना है. केंद्र के जनरल एडमिनिस्ट्रेशन विभाग के आयुक्त-सह-सचिव ने बारे में एक पत्र शाह फैसल को लिखा है और अनुशासनात्मक कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं. जनरल एडमिनिस्ट्रेशन ने इस पत्र में शाह फैसल के रवैये को ग़लत करार दिया है.


उनको लेकर इस पत्र में कहा गया है कि उन्होंने अपनी आधिकारिक जिम्मेदारियों को ठीक से नहीं निभाया है. उनकी ईमानदारी और निष्ठा को शक की दायरे में पाया गया है. इस ख़त के के साथ आईएएस टॉपर के ट्वीट का फ़ोटो भी भेजा गया है.आपको बता दें कि फिलहाल शाह फैसल उच्च शिक्षा ले रहे हैं. इस बारे में फैसल की प्रतिक्रिया भी आ गयी है. उन्होंने केंद्र सरकार के इस क़दम की कड़ी आलोचना की है.


उन्होंने केंद्र की चिट्ठी को पोस्ट करते हुए ट्वीट किया है, इसमें उन्होंने लिखा है,”दक्षिण एशिया में रेप कल्चर के खिलाफ मेरे निंदापूर्ण ट्वीट को लेकर मेरे बॉस (केंद्र) ने प्रेम पत्र भेजा है। विडंबना यह है कि अंतरआत्मा की आजादी का दम घोंटने के लिए औपनिवेशिक रूह वाले सर्विस रूल्स को लोकतांत्रिक भारत में अमल में लाया जा रहा है। मैं इसे (केंद्र की चिट्ठी) इसलिए साझा कर रहा हूं ताकि मौजूदा नियमों में बदलाव की जरूरत को रेखांकित किया जा सके।” वह घाटी में बढती हिंसा को लेकर भी चिंता ज़ाहिर कर चुके हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here