नई दिल्ली...सपा सरंक्षक मुलायम सिंह यादव के संसदीय क्षेत्र आजमगढ़ में आज पीएम नरेंद्र मोदी जिले कई कार्यक्रम करने जा रहे है.वो कई योजनाओ की शुरुआत करेंगे.पीएम बनने के बाद मोदी पहली बार आजमगढ़ में आ रहे है.इस दौरे को काफी अहम माना जा रहा है.सूत्रों के अनुसार,पीएम मोदी आजमगढ़ में सपा के गढ़ को ध्वस्त करना चाहते है.


जहाँ विधानसभा चुनाव में भाजपा ने पुरे प्रदेश में जबरदस्त जीत दर्ज की वही आजमगढ़ में भाजपा की एक ना चली यहाँ सपा और बसपा ने अच्छी सफलता पाई भाजपा सिर्फ एक ही सीट जीत सकी.हलाकि वर्तमान भाजपा ऐसी है कि वो हर कठिन चुनौती का सामना करने के लिए जानी जाती है लेकिन यहाँ के जो समीकरण है वो भाजपा के लिए ही मुसीबत है.इसलिए जानकारो का मानना है कि भाजपा आजमगढ़ की दोनों संसदीय सीटो को जीतना मुश्किल होगा.


ये तीन कारण..
यादव मतदाताओ का धुर्वीकरण-आजमगढ़ में यादव मतदाताओ की अच्छी खासी संख्या है.आजमगढ़ लोकसभा में तो यादव मतदाता 19 पर्तिशत के आसपास है.पिछले लोकसभा चुनाव में यादव मतदाताओ में भाजपा सेंध मारने में सफल हुई थी लेकिन विधानसभा चुनाव में यादव दुबारा सपा के लिए गोलबंद हो गये इस वजह से भाजपा पुरे जिले में एक ही सीट जीत पाई.जानकारो के अनुसार,यादव मतदाताओ में योगी सरकार के खिलाफ आक्रोश है.भाजपा के नेता रमाकांत यादव इसको खुद कह चुके है.

दलित मतदाताओ में बसपा का मजबूत होना-आजमगढ़ में दलित मतदाता करीब 17 प्रतिशत है जिसमे से 13 प्रतिशत जाटव है जहाँ यूपी के अन्य जिलो में दलितों में भाजपा के पक्ष में भी रुझान दिखा वही इस जिले में बसपा को पहले की ही तरह मत मिले.


सपा और बसपा का महागठबंधन..
यहाँ सपा और बसपा का ऐसा आधार है कि अगर दोनों दलों का महागठबंधन होता है फिर भाजपा को यहाँ से जीतना तो दूर की बात है पीएम मोदी भी यहाँ से लड़कर जीत जायेंगे इसको भाजपा भी नही कह सकती है.भाजपा को यहाँ जीत का समीकरण बनाने के लिया काफी कुछ करना है.


मुख्तार या रमाकांत…
अभी सपा और बसपा के बीच सीटो का बटवारा नही हुआ है ऐसे में कयास लगाये जा रहे है कौन उम्मीदवार होगा.सपा को अगर ये सीट मिली फिर भाजपा के बागी नेता रमाकांत यादव सपा का दामन थाम सकते है वही बसपा के खाते में ये सीट जाने पर बाहुबली मुख़्तार अंसारी या अब्बास अंसारी उम्मीदवार बन सकते है.वही निवर्तमान सांसद मुलायम सिंह यादव ने पहले ही एलान कर दिया है कि वो अब आजमगढ़ से चुनाव नही लड़ेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here