भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) ने कहा है कि मोहम्मद अजहरुद्दीन हैदराबाद क्रिकेट संघ के अध्यक्ष पद के लिए चुनाव लड़ने के लिए स्वतंत्र हैं। बोर्ड ने यह स्पष्ट कर दिया है कि वह आईसीसी या बीसीसीआई या उसके संबद्ध संगठनों में किसी भी पद के लिए उन्हें नहीं रोकेंगे.असल में उन पर लगा आजीवन प्रतिबंध हटा दिया गया है.

चूंकि बीसीसीआई ने आंध्र प्रदेश उच्च न्यायालय के आदेश को चुनौती नहीं दी थी इसलिए बोर्ड अजरुद्दीन की उम्मीदवारी को चुनौती नहीं देगा। एचसीए की तदर्थ समिति ने यह मामला बीसीसीआई के समक्ष रखा था और जनवरी में एचसीए के आयोजित चुनाव के लिए अजहरुद्दीन की पात्रता पर स्पष्टीकरण मांगा था.

बीसीसीआई के कानूनी मामलों की देखरेख करने वाले आदर्श सक्सेना ने बोर्ड के सीईओ राहुल जोहरी को एक पत्र भेजा था.इसके संदर्भ में हैदराबाद क्रिकेट एसोसिएशन के मौजूदा चुनाव में भाग लेने के लिए अजहरुद्दीन स्वतंत्र हैं.

गौरतलब है कि हैदराबाद क्रिकेट संघ (एचसीए) ने मोहम्मद अजहरुद्दीन को एचसीए की विशेष बैठक (एसजीएम) में हिस्सा लेने पर रोक लगा दी थी जिससे विवाद खड़ा हो गया था.एचसीए अध्यक्ष जी विवेक ने कहा था कि अनधिकृत क्रिकेट इकाई से कथित तौर पर जुड़ने के कारण एसजीएम में अजहरुद्दीन को शुरू में हिस्सा लेने की स्वीकृति नहीं दी गई थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here