नई दिल्ली-दिल्ली यूनिवर्सिटी स्टूडेंट्स यूनियन के संयुक्त सचिव उमा शंकर अपने पहले सेमेस्टर में फेल हो गए हैं.परीक्षा में फेल होने के कारण वह अपना पद भी गंवा सकते हैं.अगर ऐसा हुआ तो छात्र संघ में 4 पदाधिकारियों में से एक पदाधिकारी की कुर्सी चली जाएगी.दिल्ली यूनिवर्सिटी की ओर से रविवार शाम को घोषित रिजल्ट में वह फेल हो गए. बता दें कि पिछले साल नवंबर-दिसंबर में आयोजित परीक्षा में उमा शंकर ने भाग नहीं लिया था. वह किसी भी विषय (हिंदी सिनेमा,शास्त्रीय संस्कृत साहित्य,संस्कृत साहित्य और पर्यावरण विज्ञान) का एग्जाम देने पहुंचे ही नहीं.

एनएसयूआई के राज्य अध्यक्ष अक्षय लाकरा ने कहा कि उमा का रिजल्ट एक छात्र के रूप में उसकी लापरवाही दिखाता है,जो अपनी परीक्षा देने ही नहीं पहुंचा. वहीं छात्र संघ के कार्यालय ने यह भी पाया है कि उमा एक पदाधिकारी बनने के योग्य नहीं हैं.संयुक्त सचिव उमा मोतीलाल नेहरू कॉलेज (मॉर्निंग) के छात्र हैं. वह संस्कृत में बीए (ऑनर्स) कर रहे हैं.उमा शंकर एबीवीपी का प्रतिनिधित्व करते हैं.फेल होने के कारण वह अब यूनिवर्सिटी के छात्र नहीं रह पाएंगे, इस कारण उन्हें पद छोड़ना पड़ सकता है.

डीयूएसयू के पदाधिकारी ने बताया कि इससे पहले दिल्ली यूनिवर्सिटी छात्र संघ की सचिव महामेधा नागर को कम अटेंडेंस के चलते क्लास में आने से रोक दिया गया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here