नई दिल्ली-कर्नाटक में किसी पार्टी को बहुमत नही मिला है,भाजपा सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है,येदुरप्पा को भाजपा विधायक दल का नेता चुना गया है.वही जेडीएस ने भाजपा पर उनके विधायको को तोड़ने के लिए सौ करोड़ का ऑफर दिए जाने का आरोप लगाया है.जेडीएस ने कुमार स्वामी को विधयाक दल का नेता चुना है.

जेडीएस विधायक दल के नेता एचडी कुमारस्‍वामी ने भाजपा को चेतावनी देते कहा, ”अगर आप हमारे विधायकों का शिकार करने की कोशिश करेंगे तो हम भी वही करेंगे और आपसे दोगुने विधायक लेंगे.” कर्नाटक चुनाव परिणाम के अगले दिन यानी आज (बुधवार, 16 मई, 2018) पांच विधायकों से संपर्क नहीं होने पर कांग्रेस और जेडीएस आलाकमान ने ऑरेंज अलर्ट घोषित कर दिया है.

उधर एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक जेडीएस विधायक राजा वेंकटप्पा नायक और वेंकटप्पा राव के बेंगलुरु में चल रही जेडीएस विधायकों की बैठक में नहीं पहुंचने का मामला भी सामने आया है, उधर कांग्रेस नव निर्वाचित विधायकों की बैठक भी बुधवार सुबह में देरी हुई क्योंकि पार्टी अपने तीन विधायकों, राजशेखर पाटिल, नागेंद्र और आनंद सिंह के साथ संवाद नहीं कर सकी.

दूसरी तरफ कांग्रेस के अन्य विधायक ने कहा है कि भाजपा नेता ने बुधवार को उन्हें फोन कर पार्टी में आने का लालच दिया.विधायक से कहा गया कि उन्हें मंत्री पद के अलावा महत्वपूर्ण मंत्रालय भी दिया जाएगा.विधायक ने कहा, ‘मझे भाजपा नेताओं की तरफ से फोन किया गया.उन्होंने कहा कि मैं उनके साथ आ जाऊं.इसके बदले में मुझे मंत्रालय दिया जाएगा.मुझे मिनिस्टर बनाया जाएगा.मगर हमारे मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी हैं.’

इससे पहले जेडीएस के विधायक ने कहा कि पार्टी के चार से पांच विधायकों को भाजपा अपने पाले में लाने के लिए लालच दे रही है.हालांकि निवर्तमान राज्य के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने इस तरह की किसी भी रिपोर्ट को खारिज कर दिया है. उन्होंने कहा कि कोई विधायक गायब नहीं है। कांग्रेस के सभी विधायक बरकरार है। कोई गायब नहीं हुआ है.हमें सरकार बनाने का पूरा विश्वास है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here