नई दिल्ली...जब चुनाव होते हैं तो नेता जनता से बड़े बड़े वादे करते हैं लेकिन चुनाव हो जाने के बाद कहीं न कहीं एक संवाद टूट सा जाता है.जनता से नेता दूर से हो जाते हैं.जनता की समस्याओं से दूर हो जाने की वजह से नेताओं को कई बार भारी विरोध का सामना करना पड़ता है.


कुछ ऐसा ही हुआ हरियाणा के अम्बाला जिले में.यहाँ नारायणगढ़ में बड़ा गाँव के सरकारी शिक्षक और सरपंच के पति सेशन जज का अंतिम संस्कार कर दिया गया. इस मौके पर बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे.परिवार को सात्वना देने पहुंचे भाजपा नेता और राज्यमंत्री नायाब सिंह सैनी को यहाँ महिलाओं का भारी विरोध झेलना पड़ा.महिलाओं ने नायाब सिंह सैनी के खिलाफ जमकर नारेबाज़ी की. स्थिति इस क़दर बिगड़ गयी कि कुछ महिलाओं ने पात्थर तक उठा लिए लेकिन वहाँ मौजूद अन्य लोगों ने महिलाओं को समझाया. इस मामले में सैनी ने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया.उन्होंने बस यही कहा कि जो भी आरोपी हैं जल्द ही पकड़ लिए जायेंगे.


गौरतलब है कि सोमवार सुबह आठ बजे जब शिक्षक सेशन जज स्कूल जा रहे थे तभी उनकी गोली मारकर हत्या कर दी गयी.उन्हें आठ गोलियां मारी गयी हैं. ह्त्या के पीछे चुनावी रंजिश वजह बतायी जा रही है.परिवार के लोगों ने आरोप लगाया कि मंत्री ने उन लोगों को शह दी जिन लोगों ने शिक्षक सेशन जज की हत्या की है.इस मामले में लोगों ने प्रदर्शन किया जिसकी वजह से हाई-वे ६ घंटों तक जाम में रहा. सेशन की माँ DSP अमित भाटिया और SHO हरभजन सिंह के पैर पकड़ कर यही कहे जा रही थीं कि उनका बेटा ग़रीबों का मसीहा था, उन्हें इन्साफ चाहिए. ये मंज़र देख कई लोगों की आँखें भर आयीं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here