जयपुर-राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी को बगावत का सामना करना पड़ रहा है. कई दिनों से पार्टी से नाराज चल रहे एक MLA ने अब अपनी अलग राजनीतिक पार्टी ही बना ली है.बीजेपी से अंसतुष्ट चल रहे धनश्याम तिवारी ने नए राजनीतिक दल का गठन कर लिया है.राजस्थान में इसी साल चुनाव होना है.इस लिहाज़ से भाजपा विधायक के इस कदम से भाजपा को चुनावों में नुकसान हो सकता है.

वरिष्ठ भाजपाई MLA घनश्याम तिवारी ने ‘भारत वाहिनी पार्टी’ के नाम से अपनी नई राजनीतिक पार्टी का बना ली है. धनश्याम तिवारी ने अपने बेटे अखिलेश तिवारी को अपनी इस नई पार्टी का अध्यक्ष बनाया है.नई पार्टी के गठन के बाद पार्टी अध्यक्ष अखिलेश तिवारी ने कहा कि चुनाव आय़ोग से निर्देश मिले हैं कि एक विज्ञापन जारी कर इस नाम पर आपत्ति मांगी जाए.

उन्होंने कहाकि यदि पार्टी के नाम (भारत वाहिनी पार्टी) पर किसी को आपत्ति होती है तो चुनाव आयोग पहले इसपर सुनवाई करेगा.लेकिन अगर इस नाम पर किसी तरह की आपत्ति नहीं आती है तो चुनाव आयोग इसे राजनीतिक दल की मान्यता दे देगा.सूत्रों का दावा है कि अभी भाजपा विधायक इस पार्टी से खुद नही जुड़ेंगे लेकिन समर्थन देते रहेंगे.

दरअसल चुनाव आयोग के नियमों के अनुसार, किसी राजनीतिक दल का सदस्य जब तक उस पार्टी से इस्तीफा नहीं दे देता, तब तक वह दूसरी राजनीतिक पार्टी का सदस्य नहीं बन सकता है.चुनाव के समय तिवारी अपनी पार्टी में शामिल होकर चुनाव लड़ेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here