बरेली-अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के छात्रसंघ भवन में मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर को लेकर छिड़े घमासान के बीच बरेली की बड़ी दरगाह आला हजरत ने फतवा जारी किया है.फतवे में मोहम्मद अली जिन्ना को मुल्क के बंटवारे का जिम्मेदार बताते हुए कहा गया है कि उसकी हिमायत करना जायज नहीं है.मौलाना शहाबुद्दीन ने कहा है कि मोहम्मद अली जिन्ना दुश्मन मुल्क का हिस्सा हैं.वो हमारे मुल्क का हिस्सा नहीं हैं.देश में जहां भी जिन्ना की तस्वीरें लगी हैं, सभी को उतार दे.

मौलाना शहाबुद्दीन ने फतवे में कहां कि मोहम्मद अली जिन्ना का समर्थन करना या उनकी हिमायत में खड़ा होना किसी भी तरीके से जायज नहीं है. उन्होंने कहा कि जिन्ना का सबसे बड़ा जुर्म यह है कि उन्होंने मुल्क का बंटवारा किया.मुल्क के बटवारे में में उनका अहम किरदार रहा है.उस समय मुसलामानों को जिन मुश्किलों का सामना करना पड़ा आज भी वह तारीख का हिस्सा है.आज भी वह सब लोगों को याद है.इसलिए एक फोटो को लेकर इतना विवाद खड़ा करना उचित नहीं है.अगर उनके फोटो से कुछ लोगों को ऐतराज है तो उसे उतार देना चाहिए.

मौलाना ने आगे कहा कि जिन्ना अब हमारे देश का हिस्सा नहीं हैं.वे दुश्मन मुल्क का हिस्सा हैं.दुश्मन मुल्क पाकिस्तान है और वे उसके संस्थापक हैं. लिहाजा हमारे देश में ऐसे लोगों की या उनके फोटो की जरुरत नहीं है. देश में जहां-जहां भी जिन्ना की तस्वीरें लगीं हैं उन सबको उतार देना चाहिए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here