नई दिल्ली-राजधानी दिल्ली में एक शर्मनाक घटनाक्रम हुआ है यहाँ पर तुगलक काल के एक मकबरे को शिव मंदिर में बदल दिया गया है,इस मकबरे का नाम गुमटी है और ये सफदरजंग एनक्लेव के हु्ंमायूपुर गांव में स्थित है.यहाँ के लोगो ने एक भगवा संघठन के सहयोग से मकबरे को सफेद और भगवा रंग से पेंट कर दिया गया और उसके अंदर एक मूर्ति रख दी.ये पूरी घटना मार्च महीने की है.

ये घटना पुरातात्विक विभाग के सिटीजन चार्टर का बड़ा उल्लंघन है.चार्टर के अनुसार,मकबरे या आसपास के किसी दीवार को पेंट नहीं कर सकते और न ही मकबरे की मूल पहचान को बदला जा सकता है.इस मामले पर दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा, मुझे इस बारे में कोई सूचना नहीं है.मैं संबंधित विभाग को इसकी छानबीन करने के लिए बोलूंगा और रिपोर्ट तलब करूंगा.

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, इंडियन नेशनल ट्रस्ट फॉर आर्ट एंड कल्चरल हेरिटेज के सहयोग से पुरातात्विक विभाग को इस मकबरे की मरम्मत का काम करना था.लेकिन यहाँ के स्थानीय लोगों ने इसका विरोध किया जिससे मकबरे के जीर्णोद्धार का काम शुरू न हो सका.अब मकबरे को मंदिर में तब्दील कर दिया गया है.

इस मामले की पुलिस में शिकायत की गयी लेकिन पुलिस ने मामले पर चुप्पी साध कर कोई कार्यवाई नही की.2010 में इस मकबरे को सांस्कृतिक स्थल का दर्जा मिला था हलाकि मकबरा किसने बनाया है और इसमें किसे दफनाया गया है इसकी जानकारी नही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here