नई दिल्ली-कर्नाटक में राज्यपाल ने भाजपा के मुख्यमंत्री पद के दावेदार येदुरप्पा को शपथ के लिए बुलाया है,इस फैसले की कांग्रेस और जेडीएस ने आलोचना की है.राज्यपाल ने भाजपा को बहुमत साबित करने के लिए पन्द्राह दिन का वक़्त दिया है.इस मसले पर लोगो की प्रतिक्रिया आना शुरू हो गयी है.

पाटीदार आन्दोलन के नेता हार्दिक पटेल ने राज्यपालों की भूमिका पर निशाना साधते हुए कहाकि EVM के साथ साथ अब राज्यपाल भी हेक हो रहे हैं.समाजवादी पार्टी के राज्यसभा सांसद जावेद अली खान ने राज्यपाल पर सीधा निशाना साधते हुए कहाकि विधायक तो नहीं,राज्यपाल जी टूट/बिक गए शायद!

राजद नेता तेजस्वी यादव ने इसे लोकतंत्र के लिए काला दिन बताया,उन्होंने टवीट कर लिखा-भाजपा कर्नाटक में Horse trading को बढ़ावा दे रही है। ये लोकतंत्र में एक ख़तरनाक परिपाटी स्थापित कर रहे है। हर मामले में चित भी इनकी पट भी इनकी। हेड भी इनका टेल भी इनका। गज़ब है इन्होंने लोकतंत्र ही ग़ायब कर दिया है। लोकतंत्र का मज़ाक बना दिया है।देश के लोकतंत्र के लिए ज़रूरी है चुनाव और भाजपा के लोकतंत्र के लिए छिनाव

तेजस्वी ने बिहार में राजद को सबसे बड़ी पार्टी होने के बावुजूद ना बुलाने पर सवाल खड़ा करते हुए कहाकि यानि अब बीजेपी मानती है कि उसने बिहार में नीतीश जी के साथ Post Poll Alliance कर सामूहिक रूप से जनादेश का चीरहरण किया था। आप दोनों जगह ठीक नहीं हो सकते।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here