पटना-सीवान भाजपा में गुटबाजी अपने चरम पर पहुच चुकी है.पार्टी भाजपा सांसद ओम प्रकाश यादव और एमएलसी टुन्ना की पाण्डेय के बीच बट चुकी है दोनों एक दुसरे पर निशाना साध रहे है,पाण्डेय के पक्ष में जिले के सवर्ण नेताओ की लाबी है वही सांसद के पक्ष में पिछड़े वर्ग के कार्यकर्त्ता है.

भाजपा में आपसी जुबानी जंग तब शुरू हुई जब टुन्ना जी पांडेय ने सांसद पर निशाना साधते हुए कहा कि सांसद महोदय चुनाव के समय तो ब्राह्मणों से चिकनी चुपड़ी बातें करते हैं लेकिन चुनाव बाद उन्हें गालियां देते हैं.उन्होंने कहा कि सांसद ओमप्रकाश यादव, शहाबुद्दीन के नाम पर जीतते आ रहे हैं.

एमएलसी टुन्ना पांडेय के बयान के बाद भाजपा में गुटबाजी सतह पर आ गयी सासंद की ओर से उनके पुत्र हैप्पी यादव ने टुन्ना पांडे का मज़ाक उड़ाते हुए कहा कि राजनीति में कभी जनता की कसौटी पर खड़ा हो कर पंचायत का वार्ड चुनाव तक नहीं जीत सके हैं और चुनौती लोकसभा विजयी नेता को दे रहे हैं.

सांसद पुत्र के इस ब्यान के बाद एमएलसी टुन्ना पांडेय ने जवाब में कहा कि जो लड़का मेरे आगे जन्मा है वह आज चल रहा है मुझे राजनीति सिखाने और रह गई बात जनता के बीच रहने की तो सीवान की जनता जानती है कि कौन ज़िले के लोगों के बीच रहता है और कौन दूर.ऐसा नही है भाजपा में इन दो नेताओ के बीच ही तनातनी चल रही है इनके अलावा भाजपा जिलाध्यक्ष मनोज सिंह का ब्राह्मणों को गलियाते हुए ऑडियो क्लिप वायरल हो चुका है और कोआपरेटिव चुनाव में मनोज सिंह को हराने में भाजपा के नेताओं की संलिप्तता के चर्चे भी ज़ोरों पर थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here