भारतीय टीम के क्रिकेटर हार्दिक पंड्या ने गुरुवार को देश का संविधान बनाने में अहम भूमिका निभाने वाले भीमराव अम्बेडकर पर कथित रूप से अपमानित करने वाला एक ट्वीट किया था.अब इस पर पंड्या ने सफाई देते हुए कहा है वायरल ट्वीट फर्जी है. उस ट्वीट में कहा गया, “अम्बेडकर कौन? जिसने क्रॉस लॉ और संविधान बनाया या वो जिसने देश में आरक्षण जैसी बीमारी फैलाई।” इसके बाद राजस्थान अदालत ने बुधवार को जोधपुर पुलिस को पंड्या के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने को कहा था.

पंड्या ने गुरुवार को एक बयान जारी कर इस विवाद में शामिल होने की बात को नकारा है. उन्होंने कहा, “मीडिया में आज कई गुमराह करने वाली खबरें चली हैं, जिसमें आरोप लगाया गया है कि मैंने एक ऐसी पोस्ट की है जिसमें बी.आर. अम्बेडकर को बेइज्जत किया गया है.मैं यह साफ कर देना चाहता हूं कि इस तरह की कोई भी ट्वीट या बयान मैंने सोशल मीडिया या कहीं और जारी नहीं किया है.”

“जो ट्वीट सवालों के घेर में है, जिसमें मेरा नाम और मेरी तस्वीर है, वो अकाउंट फर्जी है.मैं कोई भी आधिकारिक संवाद करने के लिए अपने वैरिफाइड ट्विटर खाते का इस्तेमाल करता हूं.” उन्होंने कहा, “मेरे दिल में अम्बेडकर, भारतीय संविधान और सभी सुमदायों के लिए काफी इज्जत है. मैं कभी इस तरह के विवाद में नहीं पड़ता जिसमें किसी समुदाय को निशाना बनाया जाए.मैं सोशल मीडिया का इस्तेमाल अपने प्रशंसकों से जुड़ने के लिए करता हूं.”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here