कोलंबो में भारत और बांग्लादेश के बीच निदहास ट्रॉफ़ी का फ़ाइनल मुक़ाबला रोमांच से भरपूर रहा. आखिरी गेंद में भारत को जीत के लिए 5 रनों की दरकार थी और दिनेश कार्तिक ने छक्का जड़कर भारत को जीत दिला दी.टी-20 के इस फ़ाइनल मुक़ाबले में भारत को जीत के लिए 167 रनों का लक्ष्य मिला था. दिनेश कार्तिक ने आख़िरी गेंद पर छक्का मारते हुए भारत को चार विकेट से जीत दिला दी.

18वें ओवर तक भारत की जीत मुश्किल लग रही थी. भारत को जीत के लिए 18 गेंदों पर 35 रनों की दरकार थी.गेंद मुस्तफ़िज़ुर रहमान के हाथों में थी और उनके सामने बल्लेबाज़ी कर रहे थे विजय शंकर. शंकर ने हर गेंद को मारने की कोशिश की, लेकिन बल्ले का गेंद से मिलन ही नहीं हुआ.
इसके बाद बुरी तरह हताश लग रहे शंकर ने एक लेगबाई लेकर स्ट्राइक मनीष पांडेय को दी. पांडेय ने नुक़सान की भरपाई करने के इरादे से हवा में शॉट मारा, लेकिन टाइमिंग ठीक से नहीं हो सकी और सब्बीर रहमान ने लॉन्ग ऑन पर खूबसूरत कैच पकड़ लिया.

अब तो लक्ष्य और भी मुश्किल नज़र आने लगा था. टीम इंडिया को 12 गेंदों पर 34 रन बनाने थे. भारतीय ड्रेसिंग रूम में निराशा नज़र आने लगी थी, लेकिन विकेटकीपर बल्लेबाज़ दिनेश कार्तिक के इरादे तो कुछ और ही थे.कार्तिक का सामना रुबैल हुसैन से था. बांग्लादेश ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए बांग्लादेश ने भारत के सामने जीत के लिए 167 रन का लक्ष्य रखा है. भारत ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाज़ी का फ़ैसला किया.

बांग्लादेश के बल्लेबाज़ों ने बल्लेबाज़ी में कोई कसर नहीं छोड़ी.शब्बीर रहमान ने एक तरफ़ से विकेट थामे रखा और 50 गेंद में 77 रन की शानदार पारी खेली.हालांकि दूसरी तरफ़ से लगातार विकेट गिरते रहे.बांग्लादेश की तरफ़ से शब्बीर रहमान ने 77, तमीम इकबाल ने 15, लिटन दास ने 11, सौम्य सरकार ने 1, मुश्फ़िकुर रहीम ने 9, महमदुल्ला ने 21, कप्तान शकिब अल हसन ने 7 और मेहदी हसन ने नाबाद 19 रन बनाए.

निर्धारित 20 ओवर में बांग्लादेश ने आठ विकेट के नुकसान पर 166 रन बनाए.भारत की तरफ़ से युजवेंद्र चहल ने तीन विकेट लिए.उन्होंने तमीम इकबाल, मुशफ़िकुर रहीम और सौम्य सरकार को पैविलियन का रास्ता दिखाया.वहीं तेज़ गिंदबाज़ उनादकट ने बांग्लादेश के आज के सबसे सफल बल्लेबाज़ शब्बीर रहमान को बोल्ड आउट किया.उनादकट ने रूबेल हुसैन को भी शून्य पर बोल्ड किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here