खेल

तीसरे टेस्ट:शमी की शानदार गेंदबाजी की बदोलत भारत ने साउथ अफ्रीका को पराजित किया

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच जोहानिसबर्ग में खेला जा रहा तीसरा टेस्‍ट रोमांचक परिणाम की ओर बढ़ रहा है. मैच में विराट कोहली ब्रिगेड की नजर जीत की टिकी हुई है. बल्‍लेबाजों के लिहाज से बेहद खराब साबित हो रहे इस विकेट पर भारतीय टीम की दूसरी पारी आज तीसरे दिन चाय के बाद 247 रन पर समाप्‍त हुई. पहली पारी के आधार पर मिली 7 रन की बढ़त को कम करने के बाद मेजबान दक्षिण अफ्रीका के सामने जीत के लिए 241 रन का लक्ष्‍य है. भारतीय टीम ने पहली पारी में 187 रन बनाए थे जिसके जवाब में दक्षिण अफ्रीका की पहली पारी 194 पर पर सिमट गई थी.जवाब में 8.3 ओवर के बाद दक्षिण अफ्रीका की दूसरी पारी का स्‍कोर एक विकेट खोकर 17 रन था. एडेन मार्कराम (4) आउट होने वाले बल्‍लेबाज थे. वांडरर्स के पिच पर कई खिलाड़ि‍यों को गेंद से चोट लगी..केपटाउन में पहला टेस्ट 72 रन से और सेंचुरियन में दूसरा टेस्ट 135 रन से जीतकर मेजबान टीम सीरीज पहले ही अपने नाम कर चुकी है.चौथे दिन चाय के बाद दक्षिण अफ्रीका की पूरी टीम 179 रन पर आल आउट हो गयी है. भारत की तरफ से शमी ने शानदार गेंदबाज़ी करते हुए पाच विकेट झटके.

तीसरे सेशन का खेल-तीसरे सेशन में विकेटकीपर पार्थिव पटेल मैदान में नहीं उतरे. पार्थिव की उंगली में चोट लगी है.उनके स्‍थान पर सबस्‍टीट्यूट के रूप में दिनेश कार्तिक ने विकेटकीपिंग की. भारत के लिए पहला ओवर बुमराह ने फेंका जिसमें पांच रन बने. चाय के बाद दक्षिण अफ्रीका का चौथा विकेट कप्‍तान फाफ डु प्‍लेसिस (2) के रूप में गिरा, जिन्‍हें ईशांत शर्मा ने बोल्‍ड किया. टीम इंडिया जल्‍द ही क्विंटन डिकॉक (0) को भी पेवेलियन लौटाने में सफल हो गई. उन्‍हें जसप्रीत बुमराह ने एलबीडब्‍ल्‍यू किया. इसके बाद शमी ने एक ओवर में दो विकेट लेते हुए भारतीय खेमे को खुशी से भर दिया. उन्‍होंने पहले फिलेंडर (10) और फिर एंडिले फेलुकवायो (0) को बोल्‍ड किया. जल्‍द ही भुवनेश्‍वर ने नए बल्‍लेबाज कागिसो रबाडा (0) को पुजारा से कैच कराते हुए दक्षिण अफ्रीका को एक और झटका दे डाला. एक छोर से डीन एल्‍गर असहाय से विकेट की यह पतझड़ देख रहे थे.
विकेट पतन: 5-1 (एडेन मार्कराम, 1.6), 124-2 (अमला, 52.4),131-3 (डिविलियर्स, 55.6),144-4 (डु प्‍लेसिस, 60.6),145-5 (डिकॉक, 63.1)

पहले सेशन में अफ्रीका के बल्लेबाजों ने की शानदार बल्लेबाज़ी
-आउटफील्‍ड गीली होने के कारण खेल करीब आधा घंटा देर से शुरू हुआ.दक्षिण अफ्रीका ने एक विकेट पर 17 रन से आगे खेलना शुरू किया. चौथे दिन भारत के लिए पहला ओवर में मोहम्‍मद शमी ने फेंका, जिसमें हाशिम अमला ने दो चौके लगाए. शुरुआती ओवरों में दक्षिण अफ्रीका के दोनों बल्‍लेबाज, एल्‍गर और अमला किसी भी तरह की परेशानी में नजर नहीं आए. टीम का स्‍कोर बढ़ता जा रहा था, यह कप्‍तान विराट कोहली के लिए चिंता का कारण बनता जा रहा था. जैसे-जैसे मेजबान टीम का स्‍कोर बढ़ता जा रहा था, भारतीय खेमे में निराशा के भाव बढ़ रहे थे.चौथे दिन लंच के समय दक्षिण अफ्रीका का स्‍कोर एक विकेट पर 69 रन था. दक्षिण अफ्रीका के दोनों बल्‍लेबाज विकेट बचाने में सफल रहे.

लंच के बाद भारत जीत की तरफ-लंच के बाद भारतीय गेंदबाजी की शुरुआत जसप्रीत बुमराह ने की, उनके ओवर में एल्‍गर ने चौका लगाया. ईशांत की ओर से फेंके गए अगले ओवर में एक रन बना. लंच के बाद ईशांत शर्मा ने अच्‍छी लाइन-लेंथ पर गेंद डालते हुए दोनों बल्‍लेबाजों को बीट किया लेकिन सफलता उनके हाथ नहीं लगी. डीन एल्‍गर ने हार्दिक पंड्या की गेंद पर चौका लगाते हुए इन दोनों बल्‍लेबाजों के बीच की शतकीय साझेदारी पूरी की. पारी के 46वें ओवर में एल्‍गर ने हार्दिक की गेंद पर फिर चौका जमाते हुए अपना अर्धशतक पूरा किया. इसके कुछ देर बाद अमला ने भी बुमराह की गेंद पर दो रन लेते हुए अपना 38वां अर्धशतक पूरा किया. इनकी साझेदारी आगे बढ़ने के साथ ही मैच में भारतीय टीम के लिए अवसर लगभग समाप्‍त होते जा रहे थे.भारत को दिन की पहली सफलता बड़ी मशक्‍कत के बाद हाथ लगी. ईशांत शर्मा ने हाशिम अमला (52रन, 140गेंद, पांच चौके) को हार्दिक पंड्या से कैच कराते हुए यह कामयाबी हासिल की. एल्‍गर और अमला के बीच दूसरे विकेट के लिए 119 रन की साझेदारी हुई.नए बल्‍लेबाज एबी डिविलियर्स ने अपना खाता खोलने में देर नहीं लगाई.उन्‍होंने ईशांत शर्मा के अगले ओवर में चौका भी जमाया.भारतीय टीम को जल्‍द ही एक और अहम सफलता हाथ लग गई. एबी डिविलियर्स (6) आउट होने वाले तीसरे बल्‍लेबाज रहे. उन्‍हें बुमराह ने अजिंक्‍य रहाणे से गली में कैच कराया.चाय के समय दक्षिण अफ्रीका का स्‍कोर तीन विकेट पर 136 रन है.इससे पहले, भारतीय टीम की दूसरी पारी 247 रन पर समाप्‍त हुई.अजिंक्‍य रहाणे ने सर्वाधिक 48 रन बनाए जबकि कप्‍तान विराट कोहली ने 41 रन का योगदान दिया. भुवनेश्‍वर कुमार ने 33 रन की उपयोगी पारी खेली.

भारतीय टीम सीरीज में इस समय 0-2 से पिछड़ रही है. वैसे, भारतीय टीम अगर 3-0 से हारती है तो भी अपनी नंबर एक टेस्ट रैंकिंग नहीं गंवाएगी. भारतीय टीम ने दो बदलाव किए. रोहित शर्मा की जगह अजिंक्‍य रहाणे और आर. अश्विन की जगह तेज गेंदबाज भुवनेश्‍वर कुमार को प्‍लेइंग इलेवन में स्‍थान दिया गया.दूसरी ओर, दक्षिण अफ्रीका की टीम ने केशव महाराज के स्‍थान पर एंडिले फेलुकवायो को टीम में स्‍थान दिया.भारत 1992 से अब तक छह बार दक्षिण अफ्रीका का दौरा कर चुका है और 1996-97 में सचिन तेंदुलकर की कप्तानी में 2-0 से हारा था. 2006 के बाद से पिछले तीन दौरों पर एक टेस्ट जीतने या ड्रॉ कराने में कामयाब रहा है. वैसे वांडरर्स पर भारत का रिकॉर्ड अच्छा रहा है. भारत ने इस मैदान पर चार टेस्ट ( नवंबर 1992 , जनवरी 1997, दिसंबर 2006 और दिसंबर 2013 ) खेले हैं और एक भी गंवाया नहीं है. भारत ने यहां 2006 में राहुल द्रविड़ की कप्तानी में टेस्ट जीता था जिसमें श्रीसंत ने 99 रन देकर आठ विकेट लिए थे. 11 बरस बाद भारतीय टीम उसी हरी-भरी और उछाल भरी पिच पर खेलेगी.

Loading...
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top