सहारनपुर। उत्तर प्रदेश में साम्प्रदायिक सौहार्द का एक ऐसा मामला सामने आया है जो आपका दिल ख़ुश कर देगा। एक तरफ़ जहाँ नफ़रत फैलाने वाले गिरोह सक्रिय हैं वहीं सहारनपुर में एक ऐसा मामला सामने आया है जिसने सबका दिल जीत लिया हौ। कांवड़िए यहाँ डीजे लेकर निकल रहे थे तभी शाम की नमाज़ का वक़्त हो गया।  अज़ान की आवाज़ सुन कर कांवड़िए रुक गए, डीजे बन्द कर दिया गया और ये लोग तब तक रुके रहे जब तक कि नमाज़ पूरी नहीं हो गयी। इसके बाद जब नमाज़ियों को इस बात का पता चला तो वो भी कांवड़ियों से गर्मजोशी के साथ मिलने पहुंचे। दोनों समुदाय के लोगों ने आपस में बातचीत की और गले मिलकर कांवड़ियों को विदा किया.आपसी सौहार्द के इस मामले की लगातार चर्चा हो रही है.सोशल मीडिया पर इसकी तारीफ की जा रही है.

नमाज के बाद कांवड़ियों के पास पहुंचे नमाजी

सूचना के मुताबिक़ सहारनपुर में धोबीघाट निवासी कांवड़िए सिद्धपीठ भूतेश्वर मंदिर जा रहे थे. वह चौक फव्वारा होते हुए गुज़र रहे थे, यात्रा में जैसा कि होता है उसी तरह डीजे बज रहा था। इसी दौरान यहां स्थित मस्जिद में ईशा (शाम की नमाज) की नमाज का समय हो गया. कांवड़ियों ने अजान की आवाज़ सुन डीजे बंद कर दिया. और वहीं रुक गए. नमाज जैसे ही खत्म हुई, मस्जिद में लोगों को ये पता चला. नमाजी कांवड़ियों के पास पहुंचे और उनका गर्मजोशी से स्वागत किया. बातचीत के बाद नमाजियों ने गले मिलकर कांवड़ियों को विदा दिया.

सूचना पाकर मौके पर पहुंच गए अधिकारी

इस बात की ख़बर जब प्रशासन को लगी तो कई अधिकारी मौके पर पहुंच गए। यहाँ सौहार्द का माहौल देख कर अधिकारियों को भी लगा कि यहां तो सब अच्छा है।
हाजी अकबर ने बताया कि हम सब हमेशा से इसी तरह से रहते आए हैं. आगे भी इसी तरह से रहेंगे. यही हमारे देश की खूबसूरती है.

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here