ब्लॉग

कासगंज:हिन्दू पत्नी बोली..“‘मेरे पति का गुनाह मुसलमान होना है”

कासगंज-उत्तर प्रदेश के कासगंज जिले में गणतंत्र दिवस के अवसर पर तिरंगा प्रभात फेरी यात्रा के दौरान दो समुदायों के बीच जमकर बवाल हुआ था.अब कासगंज में शांति है लेकिन पुलिस द्वारा एकतरफा गिरफ्तारियों पर सवालिया निशान लगाये जा रहे है.जहाँ एक तरफ अल्पसंख्यक की शिकायतों पर पुलिस मुकदमा नही लिख रही है इस वजह से अल्पसंख्यक अब रजिस्ट्री करके थाने को शिकायत भेज रहे है ताकि कोर्ट में मुकदमा किया जा सके.

कासगंज दंगो के सिलसिले में राहत नाम के एक शख्स को गिरफ्तार किया गया है,राहत के बारे में एक रोचक बात ये सामने आई है कि उसकी पत्नी हिन्दू है और उसका नाम सुरभि चौहान है. पिछले साल एक हिंदू लड़की और मुस्लिम ने,मार्च 2017 में 20 साल की सुरभि चौहान और 27 साल के राहत ने प्रेम विवाह किया था.26 जनवरी को तिरंगा यात्रा में चंदन गुप्ता नाम के युवक की हत्या के बाद यह प्रेम विवाह एक बार फिर से संकट में है। सुरभि चौहान के पति राहत को पुलिस ने चंदन गुप्ता हत्याकांड में गिरफ्तार किया है.

अपने पति की गिरफ्तारी पर सुरभि का कहना है कि राहत की गलती सिर्फ इतनी है कि उसने हिन्दू लड़की से प्रेम विवाह किया है.उन्होंने कहा कि 26 जनवरी को तिरंगा यात्रा के दौरान हिंसा में उनके पति की जरा सी भी गलती नहीं थी.पति की गिरफ्तारी से सुरभि बुरी तरह से टूट गई हैं.वो कहती हैं, ”26 जनवरी को मैं राहत के साथ न्यूज देख रही थी. मैंने न्यूज में ही देखा कि बिलराम गेट चौराहे पर कुछ बवाल हो गया है.इसी दौरान राहत को फोन आया कि यहां लड़ाई हो गई है.राहत को कुछ लोगों ने बुलाया लेकिन मैंने उन्हें जाने से रोक दिया.”

सुरभि चौहान आगे कहती हैं,”चुकी दंगे के बाद काफी लोग कासगंज को छोड़कर आसपास जा रहे थे इसीलिए हमने भी कासगंज में शांति होने तक छोड़ने का फैसला किया. हम अगले दिन 27 जनवरी को अलीगढ़ जा रहे थे.हमें रास्ते में ही पुलिस वालों ने पकड़ लिया.मैंने हाथ-पैर जोड़े कि मेरे पति को छोड़ दो.पुलिस वालों ने कहा कि तेरे लिए सारे ठाकुर मर गए थे कि मुसलमान के साथ चली गई। तुझे कोई और नहीं मिला? मैंने कहा कि मुझे राहत ने मुसलमान नहीं बनाया है.”

सुरभि खुद को संभालते हुए कहती हैं, ”मेरे पति के साथ पुलिस वालों ने बहुत बदतमीजी की. मैं गिड़गिड़ाती रही कि मेरे पति को छोड़ दो. जो असली गुनाहगार थे उन्हें पुलिस नहीं पकड़ पाई.जो बेकसूर हैं उन्हें पकड़ रही है. मैं ये चाहती हूं कि मेरे पति को बाइज्जज बरी किया जाए.उनको हिन्दू लड़की से शादी के कारण गिरफ्तार किया गया है.”सुरभि कहती हैं, ”मेरे मायके वालों को ये विवाह स्वीकार नहीं है, लेकिन वो राहत की गिरफ्तारी नही कराएँगे वो मुझसे बात नहीं करते हैं, लेकिन हम दोनों के बीच वो पड़ते भी नहीं हैं.उन लोगों को इस रिश्ते से कोई मतलब नहीं है.”

कासगंज के एसपी पीयूष श्रीवास्तव का इस मामले में कहना है कि अगर सुरभि के साथ किसी पुलिसवाले ने बदतमजी की है तो इसकी शिकायत दर्ज कराएं और जांच के बाद उचित कार्रवाई की जाएगी.उन्होंने कहा, ”जहां तक राहत के बेगुनाह होने की बात है तो जांच के बाद ही सारी चीजें साफ हो पाएँगी.”

1 Comment

1 Comment

  1. Pingback: कासगंज(KASGANJ):लापरवाही बरतने पर प्रशासन की पुलिस पर कार्यवाई - Headline24

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top