रॉयल क्लॉक टावर की ऊंचाई करीब 1,972 फीट के आसपास है इसका निर्माण 2012 में कराया गया था। मक्का का रॉयल क्लॉक टावर दुनिया भर में अपनी अलग पहचान रखता है। आपको बता दें कि घड़ी का व्यास लंदन के मशहूर बिग बेन से करीब छह गुना ज्यादा बड़ा है जोकि दुनियाभर में चर्चित जगह है।

मक्का के इस रॉयल क्लॉक टावर पर एक घड़ी का निर्माण किया गया है जिसके उपरी हिस्से में अल्लाह लिखा हुआ है जो कई किलोमीटर के दूरी से भी दीखता है वैसे इसे तो सभी ने देखा होगा। लेकिन आपको ये नहीं पता होगा कि यह इतना चमकता क्यों रहता है ?

आखिरी ऐसी कौन सी लाइट इसमें लगी हुई है कि यह इतना ज़बरदस्त चमकता है। दरअसल कहा जाता है कि इसमें इसकी खूबसूरती के लिए 20 लाख बल्बों की रौशनी का इस्तेमाल किया गया है जो रात के अंधेरों में चमकता रहता है।

इसके अलावा आपको इस घड़ी पर सऊदी अरब का राष्ट्रीय निशान भी दिख जायेगा। दरअसल घड़ी पर दो तलवारें बनी हुईं हैं और इसके साठ हरे रंग का खजूर का दरख्त भी बनाया गया है.

बताया जाता है कि जब इस घड़ी को फिट किया जा रहा था तो इसके दोनों कांटों को सटीक तरीके से सही जगह पर लगाना बहुत मुश्किल काम था इसके कांटे लगाने में काफी दिन लग गए थे। हालांकि किसी तरह दोनों कांटे घड़ी में फिट हो गए।

बहरहाल, यह घड़ी और टावर अपने आप में और भी कई खासियत समेटे हुए हैं जिन्हें बताना बहुत मुश्किल होगा, इस बीच सोशल मीडिया पर एक वीडियो सामने आया है, इस वीडियो को सोशल मीडिया पर शेयर करके कई तरह की प्रतिक्रिया दी जा रही हैं

चूंकि वीडियो में मक्का का रॉयल क्लॉक टावर और इस पर लगी घडी पर आसमानी बिजली गिरती हुई दिखाई दे रही है लेकिन कुछ लोगों का कहना है ये एडिटिंग की गई वीडियो है।

इस वीडियो को यूट्यूब चैनल और सोशल मीडिया के सभी साइटों पर वायरल कर दिया गया है इस अब तक करीब लाखों लोगों ने देख लिया है। वीडियो में इस अद्भुत नज़ारे को लोग खूब पसंद कर रहे हैं। लेकिन क्या ये सच में वहां ऐसा हुआ है ? क्योंकि अभीतक सऊदी अरब से ऐसी कोई खबर नहीं आई है निसमे इस घटना के बारे में जिक्र हुआ हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here