नई दिल्ली-बिहार में एनडीए के सहयोगी दलों में ही सीटो को लेकर दारार दिखने लगी है.बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी अब एनडीए से अलग होने की बात कहकर पटना में सियासी सरगर्मी तेज़ कर दी.जहानाबाद सीट पर दावेदारी ठोकने के बाद ‘हम’ मुखिया ने शनिवार को बड़ा बयान देते हुए कहा कि 8 अप्रैल के बाद हम एनडीए से अलग हो जायेंगे.

जीतन राम मांंझी ने कहा कि एनडीए मेरी शर्ते माने वरना 8 अप्रैल के बाद से मेरी पार्टी की एनडीए से राह अलग होगी.जीतन राम मांझी ने इसके साथ ही पार्टी के अकेले चुनाव लड़ने की बात कहकर बिहार सीएम नीतीश कुमार और सुशील मोदी का सिरदर्द बड़ा दिया है.उन्होंने एक निजी चैनल से बात करते हुए कहा कि मेरी पार्टी विधानसभा और लोकसभा के सभी सीटों पर चुनाव लड़ेगी.

विपक्षी पार्टी राजद के साथ जाने के सवाल पर जीतन राम मांझी ने कहा कि हमें किसी दल से कोई गुरेज नहीं है.जो मेरी शर्तों को मानेंगे हम उसके साथ जुड़ जायेंगे.उन्होंने कहाकि मुझे राजद से भी कोई गुरेज नहीं है.मालूम हो कि मांझी बिहार की राजनीति में इन दिनों लगातार दवाब की राजनीति के सहारे एनडीए से जुडी छोटी पार्टिया भाजपा और जद-यू से अपनी शर्ते मनवाने की फिराक में है.

बता दे इससे पहले मांझी ने जहानाबाद विधानसभा उपचुनाव के लिए अपनी पार्टी की दावेदारी ठोक चुके हैं मांझी की राजद के नजदीकियां भी पिछले कुछ समय से बड़ी है,हम के प्रदेश अध्यक्ष वृषिण पटेल लालू से मिलने रांची की जेल में जा पहुंचे थे.जीतन राम मांझी के इस स्टैंड के बाद से एनडीए की परेशानी एक बार फिर से बढ़ती दिख रही हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here