नरेंद्र मोदी 17 साल की उम्र में शादी कर दी गई थी, उन्होंने शादी के बाद अपनी पत्नी के साथ रहने का फेसला भी किया पर एक समय ऐसा हुआ की उन्होने अपनी पत्नी को छोड़ दिया.इनकी पत्नी का नाम था जशोदाबेन,जो एक सरकारी स्कूल की अध्यापिका है.आपको यह जानकर हैरानी होगी की मोदी के छोड़ देने के बाद भी जशोदाबेन ने अभी तक शादी नहीं की है.

अब सवाल यह उठता है की मोदी ने अपनी पत्नी को क्यों छोड़ा, क्या कारण था. ऐसे अनेक सवाल मीडिया के लोग मोदी के परिवार के लोगों से पूछती हैं.और जब उनका ऐसा जवाब आता है तो हम हैरान रह जाते हैं, हमारी टीम ने भी मोदी के परिवार के लोगों से इस सवाल का जवाब माँगा था.

खैर हमें इस सवाल का जवाब सही तरीके से नहीं मिला, वहीँ मोदी के बाद सोमा भाई ने 2014 में एक इंटरव्यू में इस बात की सच्चाई बताई थी. आइये जानते है की उन्होंने मोदी की शादी के बारें में क्या कहा ?

उन्होंने कहा की मोदी बचपन से ही संघ से जुड़ गये थे और शादी के बाद भी उनका झुकाव संघ की तरफ था. वो अपने परिवार को समय नहीं दे पाते थे और अपनी जिन्दगी से उब रहे थे क्योंकि उन्हें देश के लिए कुछ करना था.

ऐसे में उन्होंने अपनी पत्नी को छोड़ दिया था, यह फैंसला किसी भी तरह से गलत नहीं था उनके भाई के अनुसार उनके भाई नरेंद्र ने जो काम किया अच्छा किया. क्योंकि अगर वो शादी के बंधन में रहते तो आज वो इस मुकाम पर नहीं होते.

आपको बता दूँ की मोदी ने भी अपनी पत्नी का जिक्र 2014 में चुनाव का पर्चा भरते वक्त किया था. इस बात ने जैसे ही हवा पकड़ी लोगों ने जशोदाबेन से भी बातें करना शुरू कर दिया था. यही कारण है की आज जशोदाबेन को वही इज्जत और सम्मान मिलता है.

जशोदाबेन ने कहा की नरेंद्र मोदी बहुत अच्छे इंसान है उनके अंदर देश के लिए कुछ करने का जज्बा है वो कभी अपनी बातों से पलटते नहीं है. खैर चुनावी भाषणों में कही अनेक बातों पर अभी तक मोदी ने अमल नहीं किया है. वहीँ कुछ लोगों के अनुसार जशोदाबेन आज भी मोदी को अपना पत्नी मानती है और उनके लिए मांग भरती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here