नई दिल्ली...2014 के लोकसभा चुनाव में उत्तर भारत के अधिकतर राज्यों में ‘मोदी लहर’ चली थी. इस लहर का असर ये था कि कुछ राज्यों में भाजपा ने विपक्ष का सफाया कर दिया था लेकिन उत्तर भारत का एक राज्य ऐसा भी रहा जहां कोई ‘मोदी लहर’ नहीं चली थी.


ये राज्य है पंजाब. पंजाब में भाजपा-अकाली दल गठबंधन को बहुत सीटें नहीं मिलीं. यहाँ भाजपा के बड़े नेताओं को हार मिली. अमृतसर से मौजूदा वित्त मंत्री अरुण जेटली भी चुनाव में उतरे लेकिन अमरिंदर सिंह ने उन्हें बड़े अंतर से हराया.


भाजपा अब इस राज्य में कुछ बेहतर प्रदर्शन करने के इरादे से नयी रणनीति अपनाने वाली है. सूत्रों से मिल रही खबर के मुताबिक़ भाजपा मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह को घेरने के लिए अभिनेता अक्षय कुमार को भी चुनाव में उतार सकती है. लुधियाना सीट से उन्हें चुनाव लड़ाए जाने की बात चल रही है.


कांग्रेस के वरिष्ट नेता मनीष तिवारी यहाँ से चुनाव लड़ेंगे,ऐसी उम्मीद है. ऐसे में अक्षय कुमार उनको कड़ी चुनौती पेश कर सकता हैं. हालाँकि क्षेत्रीय जानकार मानते हैं कि यहाँ कांग्रेस की पकड़ मज़बूत है.कांग्रेस की पकड़ मज़बूत होने की वजह से ही भाजपा एक दांव अक्षय कुमार पर लगा रही है.


भाजपा को लगता है कि अगर अक्षय कुमार को वो टिकट देती है तो उसकी इमेज भी अच्छी होगी और आस पास की सीटों पर भी भाजपा को लाभ होगा.आपको बता दें कि पिछले दिनों अक्षय कुमार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ़ करते नज़र आये हैं.वो लगातार मोदी की नीतियों का समर्थन करते आये हैं.इतना ही नहीं दिल्ली में उन्होंने भाजपा के छात्र संघठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् का झंडा अपने हाथ में लेकर लहराया जिसके बाद ये अंदाजा लगाया जाने लगा कि वो जल्द ही भाजपा में जा सकते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here