नई दिल्ली-शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिज़वी के मदरसों को लेकर विवादित टिप्पड़ी पर केन्द्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने ब्यान देकर केंद्र सरकार का रुख साफ़ किया है,उन्होंने वसीम रिज़वी पर निशाना साधते हुए कहा कि वसीम रिजवी जैसे लोग जो मदरसों पर सवाल उठाते हैं वे पागल हैं सरफिरे है.शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिज़वी ने पीएम नरेंद्र मोदी को एक पत्र लिखा था जिसमें उन्होंने मदरसों को बंद करने का अनुरोध किया था.

उन्होंने आरोप लगाया कि मदरसे छात्रों को आतंकवादी बनाने के लिए प्रोत्साहित करते हैं,उनके इस पत्र के बाद हंगामा मचा हुआ है.अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बासी नकवी ने कहा वो लोग पागल हैं जो मदरसे पर सवाल उठाते हैं.नकवी ने मीडिया भी सवाल उठाते हुए कहा “में मीडिया से भी खुश नहीं हूँ,आप लोग ऐसा सवाल पूछते ही क्यों हैं.मीडिया सिर्फ इसको मुद्दा बना रही है.भारत सरकार ने कभी मदरसों पर सवाल नहीं उठाया.

नकवी से जब वसीम रिज्वी के आरोपों के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि मैंने खुद एक मदरसा का छात्र रहा हूँ,मैंने वह से पढ़ा है क्या मैं आतंकवादी हूं? उन्होंने कहा लोग बेवजह मदरसों को बदनाम कर रहे हैं जिससे कि मुझे तकलीफ पहुंच रही है.बता दे शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी ने मदरसों को आतंकवादी पैदा करने की बात करनते हुए पीएम मोदी को खत लिखा था,इससे पहले भी वसीम रिजवी बाबरी मस्जिद का मुकदमा लड़ने वालो को पाक एजेंट होने का दावा कर चुके है.

वसीम रिजवी ने कुछ दिनों पहले हुमायूँ के मकबरे को गिराने को लेकर एक खत पीएम मोदी को लिखा था,उनके आलोचकों का कहना है कि रिजवी सीबीआई जांच से बचने के लिए ऐसे बयान दे रहे है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here