मनोरंजन

कुरान में जिस जिहाद का ज़िक्र है वो हिंसा की बात नही करता है,इस अभिनेता ने किया ये दावा ..

बॉलीवुड अभिनेता राज कुमार राव अपनी नई फिल्म ‘ओमेर्टा’ में उग्रवादी अहमद उमर सईद शेख का रोल कर रहे है. इस फिल्म के किरदार को समझने के लिए उन्होंने कई दस्तावेजी फ़िल्में देखीं और नफरत से भरे लेक्चर भी सुने.बालीवुड अभिनेता राजकुमार राव के अनुसार,इन सब के अध्ययन के बाद उन्होंने महसूस किया कि किस तरह से नौजवानों के सीधे सादे दिमाग में नफरत भरी जाती है.

बालीवुड अभिनेता राज कुमार राव ने बीबीसी से बात करते हुए कहा कि कुरान पाक में जिसे पवित्र जिहाद कहा गया है वह हिंसा की बात नहीं करता, लोगों ने अब अपने फायदे के लिए एक नई परिभाषा दे दी है ताकि दूसरों का ब्रेनवाश किया जा सके.राज कुमार राव ने कहा कि “जो कुछ सीरिया में हो रहा है उससे वे आहत है.1993-1994 में बोस्निया में ऐसा ही हो रहा था, जो बहुत उदास और दुखद था दुनिया की यह कड़वी सच्चाई है जो हमारे आसपास हो रही है.

अभिनेता राजकुमार का कहना है कि फ़िल्म “ओमेर्टा” दुनिया में हो रही ग़लत चीज़ों को दिखाया गया है.इसमें बताया गया है कि एक बुद्धिमान लड़का दुनिया में अच्छे बदलाव ला सकता था, लेकिन उसने ऐसा ख़तरनाक रास्ता चुना कि एक ख़ौफ़नाक आतंकवादी बन गया.राजकुमार राव ने बताया कि “हमने कभी नहीं सोचा कि हम एक मुस्लिम लड़के को आतंकवादी बनने की कहानी बता रहे हैं. हम उसके धर्म पर ज़ोर नहीं दे रहे हैं बल्कि उसकी मनोस्थिति, परिस्थिति और उसकी प्रतिक्रिया के बारे में बता रहे हैं. ये फ़िल्म कभी किसी कम्युनिटी के बारे में नहीं थी.”

शाहिद, न्यूटन, बरेली की बर्फ़ी जैसी फ़िल्मों से सफलता प्राप्त करने वाले राजकुमार राव को अक्सर स्वतंत्र फ़िल्मों से जोड़ा जाता था. हालांकि राजकुमार का कहना है कि अब उनके साथ किसी तरह का टैग नहीं है. इस साल राजकुमार राव कंगना रनौत के साथ फ़िल्म “मेन्टल है क्या” के साथ-साथ मल्टी स्टारर फ़िल्म ‘फन्ने ख़ान’ में अनिल कपूर और ऐश्वर्या राय बच्चन के साथ भी नज़र आएंगे.हंसल मेहता द्वारा निर्देशित फ़िल्म “ओमेर्टा” 20 अप्रैल को रिलीज़ होगी. हालांकि टोरंटो इंटरनैशनल फ़िल्म फ़ेस्टिवल में फ़िल्म का वर्ल्ड प्रीमियर हुआ था. जहां फ़िल्म को मिली-जुली प्रतिक्रिया मिली.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top