लखनऊ-अयोध्या में विवादित भूमि को राम मंदिर को देने की बात कहने वाले ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के पूर्व सदस्य मौलाना नदवी ने कहा है कि उनका पीएम मोदी की टीम से संपर्क है.सलमान नदवी ने कहा कि राम मंदिर उसी जगह बनेगा और सभी अंतिम हल तक पहुंचेंगे.सलमान नदवी ने कहा मैं दोनों समुदायों की ओर से अयोध्या विवाद का हल निकालने की कोशिश कर रहा हूं,उन्होंने कहाकि कुछ लोग हैं जो नहीं चाहते कि कुछ अच्छा हो.

उन्होंने कहा कि कट्टरवादी लोग उनकी आलोचना कर रहे है.गौरतलब है कि श्री श्री रविशंकर से वार्ता के दौरान बाबरी मस्जिद स्थानांतरित किये जाने पर सहमति जताने के बाद उलेमा व अवाम के निशाने पर आए पर्सनल लॉ बोर्ड के वरिष्ठ सदस्य मौलाना सलमान नदवी को हैदराबाद में चल रही बोर्ड बैठक में कड़े विरोध का सामना करना पड़ा था. बोर्ड के पदाधिकारियों ने मौलाना सलमान नदवी के खिलाफ कार्रवाई का मत बनाते हुए पूरे प्रकरण की जांच के लिए चार सदस्यीय कमेटी का गठन किया है.

पर्सनल लॉ बोर्ड में हो रही फजीहत के चलते मौलाना नदवी ने बैठक से किनारा कर लिया और शनिवार को हुई दूसरे चरण की बैठक में भाग नहीं लिया.इसके बाद मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने सलमान नदवी को निकाल दिया.अपने निष्कासन के बाद नदवी ने कहा कि वो खुद ही मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड से अलग हुए हैं.उन्होंने कहा कि मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड पर कट्टरपंथियों का कब्जा हो गया है.वो राम मंदिर के मामले में झगड़े लड़ाई के पक्षधर नहीं है.सलमान नदवी ने कहा कि वो चाहते हैं कि मस्जिद को शिफ्ट कर दिया जाए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here