जीवन में तमाम परेशानी आती है और तमाम दिक्कते आती है लेकिन जीने का जो मज़ा हल्फे फुल्के अंदाज़ में है वो गम में जीने में नही है.आप को हंसने और हंसाने के लिए हम लाये है कई मजेदार जोक्स,इन जोक्स को पढ़कर आप हंसी नही रोक पायेंगे,यकीन ना हो तो इन जोक्स को पढ़कर रे जरुर दे यदि आपको कोई प्रतिक्रिया देना है तो कमेन्ट बॉक्स में लिख ज़रूर दे.

पहला जोके
पप्पू जैसे ही जैकिट पहन के घर से निकला,पापा–इधर आ तू बड़ा बदमाश होता जा रहा है,पप्पू–अरे मैंने अब क्या किया ?पापा–ला तेरी जैकिट की तलाशी लेता हूँ.तलाशी में पापा को लड़की का नंबर मिला,मूवी की 2 टिकट, सिगरेट का पैकिट,– बीयर…पापा(पप्पू को थप्पड़ मारके) – कमीने कब से करता हैतू ये सब,पप्पू –पर पापा ये तो आपकी जैकिट है,मैं तो पहन के बाहर जा रहा था.

दूसरा जोक
पति ने नहाने के बाद बाथरूम से आवाज़ लगाई“सुनो ज़रा तौलिया देना मेरा”…पत्नी (गुस्से में ):तुम हमेशा तौलिये के बिना ही क्यों जाते हो?अब नाश्ता बनाऊँ या तुम्हें तौलिया दूँ?बनियान भी धोकर नल पर टाँग देते हो वो भी मैं उठाऊँ … नहाने के बाद wiper भी नहीं मारते तुम,कल तो light भी बंद नहीं की…. गीले गीले पैर लेकर बाहर आते हो पहर पूरे घर में घुमते हो फ़िर उस पर मिट्टी पड़ जाती है और सारा घर गंदा हो जाता है,अपनी कामवाली बाथरूम साफ़ करने गयी फिसल कर गिर गयी और 3 दिन नहीं आयी,कितना बुरा हाल हुआ था मेरा काम करके…पति (मन में सोचते हुए):तौलिया माँग कर गलती कर दी या शादी करके

तीसरा जोक
एक औरत ने पंडित जी से घर की खुशहाली का उपाय पूंछा …पंडित जी .. बेटी पहली रोटी गाय को खिलाया करो और आखिरी रोटी कुत्ते को …औरत.. पंडित जी मैं ऐसा ही करती हूँ …पहली रोटी खुद खाती हूँ …और …आखिरी रोटी अपने पति को खिलाती हूँ 😀पंडित बेहोश!!

चौथा जोक
हरीश: तुम्हारी आंख क्यों सूजी हुई है?पप्पू: कल मैं अपनी पत्नी के जन्मदिन पर केक लाया था।🎂हरीश: लेकिन इसका आंख सूजने से क्या संबंध है?
पप्पू: मेरी पत्नी का नाम तपस्या है लेकिन केक वाले बेवकूफ दुकानदार ने लिख दिया ….“हैप्पी बर्थडे समस्या”!!

पांचवा जोक
पत्नि सो रही थी,उसके पैरो के पास एक नागिन कुण्डली लगा के बैठी थी।पति धीरे से बोला:डस ले….डस ले….नागिन बोली:कमीने!चरण स्पर्श करने आई हूँ।गुरु हैं हमारी।😛

छठा जोक
एक शवयात्रा में अर्थी के आगे एक कुत्ता चल रहा था और उसके पीछे सैकड़ों व्यक्तियों की लम्बी लाइन चल रही थी।एक राहगीर ने हैरान होकर पूछा: भाईसाहब,अर्थी के आगे चलता हुआ कुत्ता बहुत अजीब लग रहा है,यह किसकी अर्थी है?व्यक्ति ने जवाब दिया: यह मेरी पत्नी की अर्थी है और उसकी मौत इस कुत्ते के काटने से हुई है।राहगीर ने तुरन्त कहा: क्या आप एक दिन के लिए अपना कुत्ता मुझे उधार देंगे? मेरी भी पत्नी अपने मां के घर से
आनेवाली है…

सातवा जोक
व्यक्ति बोला: तुम्हें क्या लगता है, अर्थी के पीछे चल रहे ये सैकड़ों लोग मेरी पत्नी के रिश्तेदार हैं ये सब भी कुत्ता लेने ही आए हैं।जाओ, तुम भी लाइन में लग जाओ

आठवा जोक
पत्नी:अजी सुनते हो?उपर से वह बैग उतार देना!मेरा हाथ कुछ छोटा पड रहा है..पति: तो जबान से try कर ले….पति ICU में है….

नौवा जोक
पप्पू–मम्मी आप सारे पैसे पल्लू में बांध के क्यों रखती हो?मम्मी–बेटा ताकि तेरे पापा को पता ना चले पप्पू–ओह्ह तभी पापा परेशान थे,मम्मी–क्या हुआ ?
पप्पू–आप पैसे अपने पल्लू में छिपाती हो,बेचारे पापा कामवाली का पल्लू टटोल रहे थे मम्मी बेहोश.

दसवा जोक
संता एक खुबसूरत लड़की से,संता: चलो सेक्स करते हैं!लड़की:सॉरी!मैं लेस्बियन हूँ!संता: लेस्बियन? ये क्या होता है?,लड़की: मतलब मैं बस लड़कियों के साथ सेक्स करती हूँ!संता: अरे क्या बात है! मैं भी लेस्बियन ही हूँ, मैं भी सिर्फ लड़कियों के साथ ही सेक्स करता हूँ!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here