नई दिल्ली-गुजरात में आतंक फैलाने वाले आरोपियों ने अहिंसा के पुजारी राष्ट्रपिता महात्मा गांधी पर आयोजित लेख प्रतियोगिता में टॉप किया है.नवजीवन ट्रस्ट ने साबरमती सेंट्रल जेल में महात्मा गांधी पर परीक्षा का आयोजन किया था.इसमें वर्ष 2008 के अहमदाबाद सीरियल ब्लास्ट के आरोपी इंडियन मुजाहिदीन (आईएम) के तीन संदिग्ध आतंकियों ने शीर्ष स्थान हासिल किया है.नवजीवन संस्था 3 भाषाओं गुजराती, हिंदी और अंग्रेजी में इस परीक्षा का आयोजन कराती है.

गुजरात के अहमदाबाद में 2008 में हुए सीरियल ब्लास्ट के संदिग्धों ने अहिंसा के पुजारी महात्मा गांधी पर आधारित एक टेस्ट में उच्च स्थान प्राप्त किया है.इंडियन मुजाहिदीन (आईएम) के फाउंडर और आतंकी घटना के कथित रूप से मास्टरमाइंड सफदर नागौरी की अनुपस्थिति में ब्लास्ट के अन्य तीन आरोपियों ने इस एग्जाम में टॉप 3 पोजिशन हासिल की है.बता दें कि सफदर खुद भी पिछले साल महात्मा गांधी पर हुए टेस्ट सहित जेल में होने वाली कई परीक्षाओं में टॉप कर चुका है.

इसमें सीरियल ब्लास्ट के आरोपी शम्सुद्दीन शेख ने 80 में से 77 नंबर हासिल करके पहला स्थान प्राप्त किया है.इसके बाद 69 नंबरों के साथ हसन रजा दूसरे और 68 नंबरों के साथ अयाज सैयद तीसरे स्थान पर रहे.तीसरे पायदान पर अयाज़ के साथ इलेक्ट्रिकल इंजिनियर हर्षद राठौड़ भी रहा.नवजीवन संस्था 3 भाषाओं गुजराती, हिंदी और अंग्रेजी में इस परीक्षा का आयोजन कराती है.यह परीक्षा गांधी पर तीन किताब- गांधी की संरेखित जीवनी, मंगल प्रभात और गांधी बापू पर आधारित होती है.इस बार सितंबर 2017 में हुई परीक्षा में 85 कैदियों ने हिस्सा लिया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here