मुंबई-शिवसेना फिर से भाजपा से दो दो हाथ करने की तैयारी में है.सूत्र बताते हैं कि शिवसेना जल्द ही महाराष्ट्र सरकार से हटने का ऐलान कर सकती है.हालांकि वह अभी महाराष्ट्र सरकार से हटने के बाद राज्य में भाजपा सरकार को बाहर से समर्थन दे सकती है.महाराष्ट्र की पालघर लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव में भाजपा के राजेंद्र गावित ने गुरुवार को शिवसेना उम्मीदवार को 29 हजार से ज्यादा मतों के अंतर से हरा दिया.इसके बाद शिवसेना ने ईवीएम में गड़बड़ी होने का दावा किया और कहाकि जीत के लिए बीजेपी के बजाए चुनाव आयोग को श्रेय दिया.

शिवसेना इससे पहले भी बागी तेवर दिखा चुकी है,इससे पहले भी वह कई दफा भाजपा पर हमलावर रही है.पार्टी ने पहले ही ऐलान कर रखा है कि 2019 में आम चुनाव में वह अलग से चुनाव लड़ेगी.इससे पहले पालघर लोकसभा सीट पर बड़े अंतर से पिछड़ जाने के बाद शिवसेना एमपी संजय राउत ने ईवीएम में गड़बड़ी आरोप लगाया था.इस सीट पर भाजपा और शिवसेना आमने-सामने थी जिसमें बीजेपी उम्मीदवार राजेंद्र गावित ने जीत दर्ज की.

संजय राउत ने आरोप लगाते हुए कहा कि क्षेत्र में कई ईवीएम मशीनों में गड़बड़ी थी.साथ ही 5-6 हजार लोगों के नाम भी वोटर लिस्ट से गायब थे. उन्होंने कहा कि वोटिंग के 12 घंटे बाद चुनाव आयोग ने मतदान प्रतिशत को ही बदल दिया.यह सभी बातें संदेह पैदा करती हैं.संजय राउत ने कहा कि शिवसेना आखिरी समय तक लड़ी है और इसी तरह 2019 का लोकसभा में भी लड़ेगी.यहां भाजपा की जीत नहीं हुई है,बल्कि इलेक्शन कमीशन उन्हें समर्थन दे रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here