मुंबई...शिवसेना ने एक बड़ा बयान देकर महाराष्ट्र के सियासी हलको में हलचल तेज़ कर दी,शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने शिक्षा में मुसलमानों को रिजर्वेशन देना का समर्थन किया है.गौरतलब है कि आल इंडिया इत्तेहादुल मुस्लीमीन ने मुस्लिमो के आरक्षण की बात की थी और अब शिवसेना ने भी इस मांग का समर्थन कर दिया.


शिवसेना के बयान असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी AIMIM ने बयान देकर इसे सही करार दिया है.उद्धव ठाकरे ने कहा था,मराठा के अलावा धांगड़, मुस्लिम और अन्‍य समुदायों के आरक्षण की मांग पर भी गौर करना चाहिए. हमारी पार्टी इस मसले पर केंद्र सरकार का पूरा समर्थन करेगी.मुस्लिमों को आरक्षण देने के मुद्दे पर उद्धव ने कहा कि यदि अगर मांग उचित है फिर इस पर भी विचार करना चाहिए.

गौरतलब है कि महाराष्‍ट्र फिलहाल मराठा आरक्षण का मुद्दा तेज़ है.राज्‍य के कई हिस्‍सों में हिंसक विरोध-प्रदर्शन हुए हैं.मराठा समुदाय के कई लोग आरक्षण की मांग को लेकर सूसाइड कर चुके हैं.

AIMIM ने स्वागत किया

AIMIM के विधायक इम्तियाज जलील ने शिवसेना के रुख का स्‍वागत किया है,उन्‍होंने भाजपा को इससे सीख लेने की नसीहत भी दी है. उन्‍होंने कहा, यह एक सकारात्‍मक बात है और शिवसेना के बयान से भाजपा को इससे सीख लेनी चाहिए.वही AIMIM ने कहाकि बीजेपी के कुछ नेता अपने बयानों और कृत्‍यों से लगातार मुसलमानों को निशाना बनाते रहते हैं.


उन्‍होंने कहा कि बांबे हाई कोर्ट ने भी मुस्लिम समुदाय को 5 फीसद आरक्षण देने का समर्थन किया है.इम्तियाज़ जलील ने कहा,हाई कोर्ट ने मराठा समुदाय को पिछड़े श्रेणी में शामिल करने की मांग को खारिज करते हुए मुसलमानों को 5 फीसद आरक्षण देने की अनुमति दी थी. मुसलमानों के मामले में कोर्ट ने परिस्थितिजन्‍य साक्ष्‍य के आधार पर शिक्षा में आरक्षण देने की बात कही थी.लेकिंन राज्य सरकार ने कोर्ट की सलाह पर कोई काम नही किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here