अगर हम विज्ञान के नजरिये से कुछ सोचते है तो यह लगता है की वास्तु नाम की कोई चीज है ही नहीं, वहीँ अगर हम वास्तु के हिसाब से सोचते है तो लगता है की विज्ञान नाम की कोई चीज है ही नहीं,अगर देखा जाए तो दोनों ही एक दुसरे के प्राय: हैं. खैर कुछ लोग वास्तु को भी सच मानते है और विज्ञान को भी और दोनों एक ही तो है बस दोनों का बताने का नजरिया अलग है.

अब एक जीव की ही बात कर लो वास्तु के अनुसार यह जीव घर में आता है तो मौत के संकेत होते हैं और वहीँ विज्ञान भी यही मानता है की इस जीव को घर में देखना मतलब मौत के करीब जाना है.

वास्तु के अनुसार यदि घर में चमगादड़ आ जाता है तो वो अशुभ होता है. वास्तु के अनुसार वो मृत जीवों का खून पीतें है और अनेक तरह से अशुभ होते हैं.

यह राक्षसों की श्रेणी में आते हैं.ऐसा माना जाता है की यदि यह किसी घर में आते है तो उस घर में किसी ना किसी पर मौत का भय उत्पन्न हो जाता है.वास्तु के अनुसार यदि चमगादड़ घर में आता है तो उसके साथ घर में नकारात्मक शक्ति भी आ जाती है.

जिससे घर में किसी का भी काम सही से नहीं होता है और घर में लड़ाई झगड़ा होने लग जाता है. कहा जाता है की जिस घर में चमगादड़ का प्रवेश होता है वो बहुत जल्द एक खाली मकान में तब्दील हो जाता है.अब जानते है की वैज्ञानिक इसके बारें में क्या कहते हैं – वैज्ञानिक भी यह मानते है की चमगादड़ का घर में आना खतरनाक हो सकता है.

नहीं साहब वैज्ञानिक किसी भी तरह के वास्तु को नहीं मानते हैं. उनके अनुसार चमगादड़ के साथ एक वायरस आता है जिससे इंसान की मृत्यु भी हो सकती है.चमगादड़ जनक है निपाह वायरस का और यह निपाह वायरस किसी की भी जान ले सकता है. यह एक ऐसा रोग लगाता है जिससे इंसान की बीमारी लाईलाज हो जाती है.

यह वायरस जब भी किसी को जकड़ता है तो उसे बुखार होने लग जाता है शरीर में थकावट हो जाती है. यहाँ तक की उनसे चलना फिरना भी कठिन हो जाता है.ऐसा निपाह वायरस की वजह से भी होता है जहां चमगादड़ और बंदरों की संख्या ज्यादा होती है ना वहां इस तरह का रोग होना स्वभाविक है.

ऐसे में अगर देखा जाए तो वास्तु भी अपनी जगह सही और विज्ञान भी बस दोनों का बताने का तरीका अलग है और उपचार अलग है.एक डॉक्टर के पास भेजता है तो दूसरा उसका शुद्धिकरण होता है. अब यह सब बदला तो नहीं जा सकता पर यह बात साफ़ है की चमगादड़ जहां होता है वहां किसी को मौत आने की संभावना बढ़ जाती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here