नई दिल्ली...आज कल के युग में भी लड़के लड़कियों से शादी करने के लिए उनसे यह सवाल जरूर करते हैं की लड़की वर्जिन है की नहीं। अगर नहीं तो वह लड़का लड़की से शादी नहीं करता। भारत के साथ साथ और भी कई देश हैं जहां लड़कियों को शादी से पहले वर्जिन होना बहुत जरूरी होता है। आपको बता दें कि जो भी बातें वर्जिनिटी से जुड़ी हुई होती हैं उनमें से ज्यादातर मिथ्या हैं। तो चलिए आपको बताते हैं इससे जुड़ी कुछ खास बातें।

दुनिया के कई कोनों में वर्जिनिटी केवल महिलाओं की जरूरी रहती है न की पुरुषों की। महिला ने कभी योनि शारीरिक सम्बन्ध किया हो, वो वर्जिन होती हैं। कुछ और लोगों के लिए,किसी भी तरह का लिंग मिलन जैसे कि ओरल सेक्स या गुदा मैथुन होने से भी माना जाता है कि वो वर्जिन नहीं हैं।हाइमन

हाइमन लड़की के प्राइवेट पार्ट में बनी हुई एक पतली सी चमड़ी की परत की तरह होती है जो योनि के द्वार पर होती है। आपको बता दें कि कई बार हाइमन संबंध बनाने के बाद भी नहीं टूटता है। इसका कारण यह है कि महिलाओं का हाइमन बहुत लचीला होता है।हाइमन टूटने पर खून निकलना

कई बार लोग पहली बार शारीरिक सम्बन्ध करते समय ज्यादा जोर लगाते हैं मगर इसकी कोई जरूरत नहीं होती है। जब की जितने आराम से पहली बार संबंध बनाया जाए उतना ही अच्छा अनुभव होता है। वहीं पहली बार संबंध बनाने पर यह भी मिथ्या माना जाता है कि जब भी हाइमन टूटता है तो खून निकलता है। तो आपको बता दें कि अगर किसी महिला को पहली बार संबंध बनाते वक़्त खून नहीं निकलता तो इसका मतलब यह नहीं की वह वर्जिन नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here